1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. महराजगंज:पैदल आई दुल्हन,सिर पर आया सामान

महराजगंज:पैदल आई दुल्हन,सिर पर आया सामान

Maharajganj Bride On Foot Luggage On Her Head

By Editor-Vijay Chaurasiya 
Updated Date

महाराजगंज: भारत-नेपाल सीमा कोरोना महामारी को लेकर सील है। बॉर्डर सील होने की वजह से सीमावर्ती क्षेत्रों में शादी विवाह पर इसका खूब असर पड़ रहा है। इसका एक नजारा झुलनीपुर सीमा पर देखने को मिला। जहां दूल्हा बुधवार को पैदल अपनी दुल्हन को लेने पैदल ही नेपाल गया। जहां से गुरुवार को पैदल ही दुल्हन के साथ लौटा।

पढ़ें :- महराजगंज:सिसवा को हरा बड़हरा की टीम बनी विजेता

भारतीय सीमा में प्रवेश के बाद दोनों को गाड़ी से घर ले जाया गया। भारत-नेपाल के रिश्ता वर्षों से रोटी बेटी का रहा है। सीमा क्षेत्र के अधिकांश परिवारों के रिश्ते दोनों देशों में हैं। लेकिन हाल के दिनों में नेपाल से बिगड़ते रिश्तों व कोरोना के कहर से विगत नौ माह से भारत नेपाल सीमा सील है। लाकडाउन खुलने व लगन शुरू होते ही पहले से तय शादियों को मुहूर्त देखकर पूर्ण किया जा रहा है। लेकिन सीमा पार जुड़े रिश्तें अब दोनों परिवारों के लिए सिरदर्द बनते जा रहे हैं। बुधवार को महराजगंज जिले के रामपुर मीर से बरात नेपाल के नरसही वार्ड नंबर सात गोकुल नगर नवलपरासी सुस्ता गांव पालिका में राजेंद्र चौहान के वहां बारात जानी थी। प्रदीप चौहान ने बताया कि सीमा पर दूल्हे की गाड़ी को नेपाल में अंदर जाने नहीं दिया गया। जिससे दूल्हा पैदल चलकर नरसही वार्ड नंबर सात में पहुंचा। वापसी में दूल्हा दुल्हन पैदल चलकर नेपाल से भारत सीमा पर पहुंचे। वहां भारतीय वाहन से फिर अपने घर को गए। सामान को भी कई लोग ढोकर सीमा पार ले आए। दूल्हे के पिता प्रदीप चौहान ने बताया की सीमा सील होने से दोनों तरफ गाड़ियां तय करनी पड़ी। तब जाकर दुल्हन और सामान घर तक पहुंचा। इससे जेब पर भारी खर्च पड़ रहा है। बॉर्डर क्षेत्र के ग्रामीणों ने शासन और प्रशासन से मांग की है कि लगन को देखते हुए दूल्हे और दुल्हन की गाड़ियां इस पार से उस पार जाने दिया जाए ताकि शादी की रस्म पूरी हो सके।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...