महाराष्ट्र: उद्धव सरकार गठन के 13 दिन बाद भी नहीं हो सका विभागों का बंटवारा

Uddhav government
महाराष्ट्र: उद्धव सरकार गठन के 13 दिन बाद भी नहीं हो सका विभागों का बंटवारा

मुम्बई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजो के बाद सरकार बनाने को लेकर काफी दिनो तक खींचातानी चलती रही और अन्त में शिवसेना की अगुवाई में एनसीपी और कांग्रेस ने मिलकर सरकार बनाई और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सबकी सहमति से सीएम बन गये। लेकिन सरकार गठन के 13 दिन बीत चुके हैं फिर भी अभी तक विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है।

Maharashtra 13 Days After Uddhav Government Formation Portfolios Could Not Be Divided :

आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे ने बीते 28 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और उद्धव के साथ 6 मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई थी पर अभी तक किसी भी मंत्री को कोई विभाग नही मिला है। सूत्रों की माने तो गृह विभाग को लेकर तीनो पार्टियों में पेच फंसा गया है। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस की तरह गृह विभाग अपने पास रखना चाहते हैं, लेकिन एनसीपी और कांग्रेस इस पर ऐतराज कर रही है। जिसका बीजेपी पूरा फायदा उठाने की कोशिश कर रही है।

बताया गया कि ‘महा विकास आघाड़ी’ सरकार के मंत्रियों को विभागों का आवंटन करने नेहरू सेंटर में बैठक हुई। इस बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार व सीएम उद्धव ठाकरे समेत कई नेता मौजूद रहे। आने वाले कुछ दिनो में मंत्रियों के विभागो की घोषणा हो सकती है लेकिन गृह विभाग पर अभी भी कोई सहमति बनती नही नजर आयी है। जिन मंत्रियों ने उद्धव ठाकरे के साथ शपथ ली उनमें शिवसेना के कोटे से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई, NCP के कोटे से जयंत पाटिल और छगन भुजबल, कांग्रेस के कोटे से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत शामिल हैं। तीनों पार्टियों के गठबंधन को ‘महाराष्ट्र विकास अघाड़ी’ नाम दिया गया है।

मुम्बई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजो के बाद सरकार बनाने को लेकर काफी दिनो तक खींचातानी चलती रही और अन्त में शिवसेना की अगुवाई में एनसीपी और कांग्रेस ने मिलकर सरकार बनाई और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सबकी सहमति से सीएम बन गये। लेकिन सरकार गठन के 13 दिन बीत चुके हैं फिर भी अभी तक विभागों का बंटवारा नहीं हो सका है। आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे ने बीते 28 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और उद्धव के साथ 6 मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई थी पर अभी तक किसी भी मंत्री को कोई विभाग नही मिला है। सूत्रों की माने तो गृह विभाग को लेकर तीनो पार्टियों में पेच फंसा गया है। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस की तरह गृह विभाग अपने पास रखना चाहते हैं, लेकिन एनसीपी और कांग्रेस इस पर ऐतराज कर रही है। जिसका बीजेपी पूरा फायदा उठाने की कोशिश कर रही है। बताया गया कि 'महा विकास आघाड़ी' सरकार के मंत्रियों को विभागों का आवंटन करने नेहरू सेंटर में बैठक हुई। इस बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार व सीएम उद्धव ठाकरे समेत कई नेता मौजूद रहे। आने वाले कुछ दिनो में मंत्रियों के विभागो की घोषणा हो सकती है लेकिन गृह विभाग पर अभी भी कोई सहमति बनती नही नजर आयी है। जिन मंत्रियों ने उद्धव ठाकरे के साथ शपथ ली उनमें शिवसेना के कोटे से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई, NCP के कोटे से जयंत पाटिल और छगन भुजबल, कांग्रेस के कोटे से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत शामिल हैं। तीनों पार्टियों के गठबंधन को 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' नाम दिया गया है।