महाराष्ट्र में हैवानियत: बदमाशों ने किया 8 महीने की गर्भवती महिला से गैंगरेप

महाराष्ट्र , हैवानियत ,बदमाशों , गर्भवती महिला से गैंगरेप
महाराष्ट्र में हैवानियत: बदमाशों ने किया 8 महीने की गर्भवती महिला से गैंगरेप

मुंबई। महाराष्ट्र के सांगली जिले से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। मंगलवार को सांगली के सतारा की रहने वाली एक आठ महीने की गर्भवती महिला के साथ आठ व्यक्तियों ने मिलकर गैंग रेप किया। बताया जा रहा है कि वह अपने पति के साथ तासगांव के तुर्चि जा रही थी। उसका पति एक होटल का मालिक है और अपने होटल के काम के लिए ही वह वहां गए थे और आरोपियों में से एक ने उन दोनों को उस मीटिंग के लिए वहां बुलाया था।

Maharashtra 8 Month Pregnant Woman Gang Raped By 8 Men In Satara :

पूरा मामला

यह घटना मंगलवार की सुबह छह बजे हुई, जब 20 वर्षीय महिला अपने पति के साथ तासगांव के तुर्चि फाटा में होटेल की ही एक मीटिंग के लिए गए थे। तासगांव पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी से जानकारी मिली कि महिला और उनके पति अपने होटल के कामकाज के लिए एक कर्मचारियों की तलाश कर रहे थे। इस पूरे मामले का मुख्य आरोपी मुकुंद माने ने महिला के पति को फोन पर कर कहा कि वह एक ऐसे दम्पति को जानता है जो उनके लिए काम करने को राजी है और आप दोनों तुर्चि फाटा आ जाओ। यही नहीं माने ने उनसे यह भी कहा कि 20,000 रूपये एडवांस ले आना।

माने के बुलाये हुए स्थान पर जब होटल कारोबारी और उनकी पत्नी पहुंचे तब माने और उसके आदमियों ने उन्हें बुरी तरह पीटा और महिला के सोने के गहनों के अलावा उनके पास मौजूद नकदी भी लूट ली। इसके बाद बदमाशों ने मिलकर पति को बांधकर वाहन के अंदर डाल दिया और उसके बाद महिला का सामूहिक दुष्कर्म किया। इस पूरी घटना को अंजाम देकर सभी वहां से भाग गए।

पुलिस से दूर रहने की दी धमकी

पूरी घटना के बाद अपराधियों ने भागते हुए उन्हें धमकाया कि वे पुलिस के पास न जाएं क्योंकि ‘वे इस जगह काफी प्रभावशाली हैं और कोई भी उनकी बात नहीं सुनेगा।’ मामले के कुछ देर बाद दम्पति ने तासगांव पुलिस स्टेशन तक पहुंच कर शिकायत दर्ज कराई जिसपर महिला ने एफआईआर में आठ में से चार आरोपियों मुकुंद माने, सागर, जावेद खान और विनोद का नाम दर्ज करा दिया है।

फिलहाल अभी तक इस पूरे मामले में पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। जबकि घटना को गंभीरता से लेते हुए अब महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने गुरुवार को इस पूरे मामले की रिपोर्ट पुलिस से मांगी है।

मुंबई। महाराष्ट्र के सांगली जिले से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। मंगलवार को सांगली के सतारा की रहने वाली एक आठ महीने की गर्भवती महिला के साथ आठ व्यक्तियों ने मिलकर गैंग रेप किया। बताया जा रहा है कि वह अपने पति के साथ तासगांव के तुर्चि जा रही थी। उसका पति एक होटल का मालिक है और अपने होटल के काम के लिए ही वह वहां गए थे और आरोपियों में से एक ने उन दोनों को उस मीटिंग के लिए वहां बुलाया था।पूरा मामला यह घटना मंगलवार की सुबह छह बजे हुई, जब 20 वर्षीय महिला अपने पति के साथ तासगांव के तुर्चि फाटा में होटेल की ही एक मीटिंग के लिए गए थे। तासगांव पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी से जानकारी मिली कि महिला और उनके पति अपने होटल के कामकाज के लिए एक कर्मचारियों की तलाश कर रहे थे। इस पूरे मामले का मुख्य आरोपी मुकुंद माने ने महिला के पति को फोन पर कर कहा कि वह एक ऐसे दम्पति को जानता है जो उनके लिए काम करने को राजी है और आप दोनों तुर्चि फाटा आ जाओ। यही नहीं माने ने उनसे यह भी कहा कि 20,000 रूपये एडवांस ले आना। माने के बुलाये हुए स्थान पर जब होटल कारोबारी और उनकी पत्नी पहुंचे तब माने और उसके आदमियों ने उन्हें बुरी तरह पीटा और महिला के सोने के गहनों के अलावा उनके पास मौजूद नकदी भी लूट ली। इसके बाद बदमाशों ने मिलकर पति को बांधकर वाहन के अंदर डाल दिया और उसके बाद महिला का सामूहिक दुष्कर्म किया। इस पूरी घटना को अंजाम देकर सभी वहां से भाग गए। पुलिस से दूर रहने की दी धमकीपूरी घटना के बाद अपराधियों ने भागते हुए उन्हें धमकाया कि वे पुलिस के पास न जाएं क्योंकि 'वे इस जगह काफी प्रभावशाली हैं और कोई भी उनकी बात नहीं सुनेगा।' मामले के कुछ देर बाद दम्पति ने तासगांव पुलिस स्टेशन तक पहुंच कर शिकायत दर्ज कराई जिसपर महिला ने एफआईआर में आठ में से चार आरोपियों मुकुंद माने, सागर, जावेद खान और विनोद का नाम दर्ज करा दिया है।फिलहाल अभी तक इस पूरे मामले में पुलिस किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है। जबकि घटना को गंभीरता से लेते हुए अब महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने गुरुवार को इस पूरे मामले की रिपोर्ट पुलिस से मांगी है।