महाराष्ट्र में युवक को पीटा, जबरन लगवाया ‘जय श्रीराम’ का नारा

marpit
महाराष्ट्र में युवक को पीटा, जबरन लगवाया 'जय श्रीराम' का नारा

औरंगाबाद। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में मुस्लिम युवक द्वारा कथित तौर पर जय श्रीराम के नारे ना के कारण मारपीट का मामला सामने आया है। होटेल में काम करने वाले इमरान इस्माइल पटेल शुक्रवार तड़के अपने घर लौट रहे थे, तभी करीब 10 बदमाशों ने हुडको कॉर्नर के पास उनकी बाइक रोक वाहन की चाबी छीन ली और उनसे जय श्रीराम बोलने को कहा।

Maharashtra Beating Young Man In Aurangabad Forcing To Jai Shriram Slogan :

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पेशे से वेटर इस्माइल पटेल (28) शुक्रवार करीब 12.30 बजे अपने घर की तरफ जा रहे थे, तभी कुछ बाइक सवार कुछ लोगों ने उसे रोक लिया और उसे जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए कहा। जब युवक ने इसका विरोध किया तो उसके साथ मारपीट शुरु कर दी। युवक की रोने की आवाज सुनकर घर से बाहर आए एक दंपति ने उसे बचाया। इसके बाद दंपति ने हमलावरों से युवक की मोटरसाइकिल की चाबी वापस ली और उसे सुरक्षित वहां से निकाल दिया।

आईपीसी की धाराओं में दर्ज हुआ केस

पुलिस निरीक्षक मधुकर सावंत ने बताया कि मामले की जांच जारी है और शिकायत की पुष्टि की जा रही है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आईपीसी की धारा 153-ए और 144 के तहत मामला दर्ज किया गया है। अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को जबरन जय श्रीराम कहने के लिए मजबूर करने की घटनाएं हाल ही में महाराष्ट्र के ठाणे सहित देश के विभिन्न हिस्सों से सामने आई हैं। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भी इस तरह के आरोप सामने आए लेकिन पुलिस जांच में इस बारे में कोई तथ्य नहीं मिल सके।

औरंगाबाद। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में मुस्लिम युवक द्वारा कथित तौर पर जय श्रीराम के नारे ना के कारण मारपीट का मामला सामने आया है। होटेल में काम करने वाले इमरान इस्माइल पटेल शुक्रवार तड़के अपने घर लौट रहे थे, तभी करीब 10 बदमाशों ने हुडको कॉर्नर के पास उनकी बाइक रोक वाहन की चाबी छीन ली और उनसे जय श्रीराम बोलने को कहा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पेशे से वेटर इस्माइल पटेल (28) शुक्रवार करीब 12.30 बजे अपने घर की तरफ जा रहे थे, तभी कुछ बाइक सवार कुछ लोगों ने उसे रोक लिया और उसे जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए कहा। जब युवक ने इसका विरोध किया तो उसके साथ मारपीट शुरु कर दी। युवक की रोने की आवाज सुनकर घर से बाहर आए एक दंपति ने उसे बचाया। इसके बाद दंपति ने हमलावरों से युवक की मोटरसाइकिल की चाबी वापस ली और उसे सुरक्षित वहां से निकाल दिया। आईपीसी की धाराओं में दर्ज हुआ केस पुलिस निरीक्षक मधुकर सावंत ने बताया कि मामले की जांच जारी है और शिकायत की पुष्टि की जा रही है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आईपीसी की धारा 153-ए और 144 के तहत मामला दर्ज किया गया है। अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को जबरन जय श्रीराम कहने के लिए मजबूर करने की घटनाएं हाल ही में महाराष्ट्र के ठाणे सहित देश के विभिन्न हिस्सों से सामने आई हैं। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भी इस तरह के आरोप सामने आए लेकिन पुलिस जांच में इस बारे में कोई तथ्य नहीं मिल सके।