महाराष्ट्र: बीजेपी नेता एकनाथ खड़से ने की शरद पवार से मुलाकात, पार्टी से चल रहे हैं नाराज

bjp leader
महाराष्ट्र: बीजेपी नेता एकनाथ खड़से ने की शरद पवार से मुलाकात, पार्टी से चल रहे हैं नाराज

मुंबई। महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अंदरखाने काफी हलचल मची हुई है। पंकजा मुंडे की बगावत के बाद अब एकनाथ खड़से ने भी कई बीजेपी नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एकनाथ खडसे ने कल दिल्ली में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात की। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि खडसे कोई बड़ा कदम उठा सकते हैं।

Maharashtra Bjp Leader Eknath Khadse Meets Sharad Pawar Angry With Party :

खडसे ने कहा कि वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से भी मुलाकात करेंगे। पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार में जमीन कब्जाने के आरोपों में 2016 में खडसे ने राजस्व मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। अक्टूबर में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी के अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं करने के बाद पार्टी के कुछ निर्णयों के खिलाफ 67 वर्षीय नेता ने आवाज उठाई थी। विधानसभा चुनावों में उन्हें टिकट नहीं दिया गया था।

पूर्व मंत्री के एक निकट सहयोगी ने कहा, “खडसे ने दिल्ली में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से मिलने का समय मांगा है। मुलाकात में मुख्य मुद्दा पार्टी के अंदर उनके अलग-थलग होने को समाप्त किए जाने के बारे में होगा।” सहयोगी ने दावा किया कि पार्टी द्वारा खडसे से किए जा रहे व्यवहार के कारण ओबीसी नेतृत्व में “नाराजगी” है और दिल्ली के नेताओं से इस पर भी चर्चा की जा सकती है। खडसे ने शनिवार को पार्टी नेतृत्व को परोक्ष चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर उनका “अपमान” जारी रहा तो वह दूसरे विकल्प की तलाश करेंगे।

 

मुंबई। महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अंदरखाने काफी हलचल मची हुई है। पंकजा मुंडे की बगावत के बाद अब एकनाथ खड़से ने भी कई बीजेपी नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एकनाथ खडसे ने कल दिल्ली में एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार से मुलाकात की। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि खडसे कोई बड़ा कदम उठा सकते हैं। खडसे ने कहा कि वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से भी मुलाकात करेंगे। पूर्ववर्ती बीजेपी सरकार में जमीन कब्जाने के आरोपों में 2016 में खडसे ने राजस्व मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। अक्टूबर में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी के अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं करने के बाद पार्टी के कुछ निर्णयों के खिलाफ 67 वर्षीय नेता ने आवाज उठाई थी। विधानसभा चुनावों में उन्हें टिकट नहीं दिया गया था। पूर्व मंत्री के एक निकट सहयोगी ने कहा, "खडसे ने दिल्ली में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं से मिलने का समय मांगा है। मुलाकात में मुख्य मुद्दा पार्टी के अंदर उनके अलग-थलग होने को समाप्त किए जाने के बारे में होगा।" सहयोगी ने दावा किया कि पार्टी द्वारा खडसे से किए जा रहे व्यवहार के कारण ओबीसी नेतृत्व में "नाराजगी" है और दिल्ली के नेताओं से इस पर भी चर्चा की जा सकती है। खडसे ने शनिवार को पार्टी नेतृत्व को परोक्ष चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर उनका "अपमान" जारी रहा तो वह दूसरे विकल्प की तलाश करेंगे।