महाराष्ट्र: BJP ने प्रत्याशी का नाम वापस लिया, निर्विरोध चुना गया गठबंधन का स्पीकर

Maharashtra
महाराष्ट्र: BJP ने प्रत्याशी का नाम वापस लिया, निर्विरोध चुना गया गठबंधन का स्पीकर

मुम्बई। जहां शनिवार को महाराष्ट्र विकास अघाड़ी की अगुवाई में महाराष्ट्र विधानसभा में उद्धव सरकार ने फ्लोर टेस्ट पास कर लिया था वहीं आज विधानसभा स्पीकर के चुनाव में भी गठबन्धन के प्रत्याशी को निर्विरोध चुन लिया गया। हालांकि बीजेपी ने स्पीकर के लिए किशन कथोरे को खड़ा किया था लेकिन आज चुनाव से पहले ही नाम वापस ले लिया गया। तो इस तरह से गठबन्धन के प्रत्याशी नाना पटोले निर्विरोध विधानसभा स्पीकर चुन लिये गये।

Maharashtra Bjp Withdraws Candidate Elected Unopposed Speaker :

आपको बता दें कि कल महाराष्ट्र विधानसभा में उद्धव सरकार का फ्लोर टेस्ट था, शुरूवात से ही बीजेपी ने शपथ ग्रहण के तरीके को लेकर सवाल उठाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। और जैसे ही फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया शुरू हुई तो बीजेपी के 105 सदस्यों ने वॉकआउट कर दिया। इसके बाद फ्लोर टेस्ट हुआ और इस दौरान शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस गठबंधन, महाराष्ट्र विकास अघाड़ी की अगुवाई में उद्धव ठाकरे सरकार ने 169 सदस्यों का समर्थन पाकर फ्लोर टेस्ट पास कर लिया।

हालांकि फ्लोर टेस्ट सबके सामने होना था लेकिन विधानसभा स्पीकर का चुनाव गुप्त तरीके से होना था। बीजेपी ने भी बहुत दावे किये थे तो लग रहा था कि फ्लोर टेस्ट के बाद अब बीजेपी यहां अपनी पूरी ताकत लगा सकती है लेकिन ऐसा नही हुआ। बीेजेपी ने कल फ्लोर टेस्ट में भी वॉकआउट कर दिया था और आज विधानसभा स्पीकर के चुनाव में भी पीछे हट गयी। बीजेपी की तरफ से कहा जा रहा है ​कि सरकार ने अनुरोध किया था इसके बाद ही फैसला लिया गया।

मुम्बई। जहां शनिवार को महाराष्ट्र विकास अघाड़ी की अगुवाई में महाराष्ट्र विधानसभा में उद्धव सरकार ने फ्लोर टेस्ट पास कर लिया था वहीं आज विधानसभा स्पीकर के चुनाव में भी गठबन्धन के प्रत्याशी को निर्विरोध चुन लिया गया। हालांकि बीजेपी ने स्पीकर के लिए किशन कथोरे को खड़ा किया था लेकिन आज चुनाव से पहले ही नाम वापस ले लिया गया। तो इस तरह से गठबन्धन के प्रत्याशी नाना पटोले निर्विरोध विधानसभा स्पीकर चुन लिये गये। आपको बता दें कि कल महाराष्ट्र विधानसभा में उद्धव सरकार का फ्लोर टेस्ट था, शुरूवात से ही बीजेपी ने शपथ ग्रहण के तरीके को लेकर सवाल उठाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। और जैसे ही फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया शुरू हुई तो बीजेपी के 105 सदस्यों ने वॉकआउट कर दिया। इसके बाद फ्लोर टेस्ट हुआ और इस दौरान शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस गठबंधन, महाराष्ट्र विकास अघाड़ी की अगुवाई में उद्धव ठाकरे सरकार ने 169 सदस्यों का समर्थन पाकर फ्लोर टेस्ट पास कर लिया। हालांकि फ्लोर टेस्ट सबके सामने होना था लेकिन विधानसभा स्पीकर का चुनाव गुप्त तरीके से होना था। बीजेपी ने भी बहुत दावे किये थे तो लग रहा था कि फ्लोर टेस्ट के बाद अब बीजेपी यहां अपनी पूरी ताकत लगा सकती है लेकिन ऐसा नही हुआ। बीेजेपी ने कल फ्लोर टेस्ट में भी वॉकआउट कर दिया था और आज विधानसभा स्पीकर के चुनाव में भी पीछे हट गयी। बीजेपी की तरफ से कहा जा रहा है ​कि सरकार ने अनुरोध किया था इसके बाद ही फैसला लिया गया।