महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे बोले-शरद पवार ने हमें सिखाया, विधानसभा में कम संख्या होने पर भी सरकार कैसे बनाई जाती है

Uddhav & Sharad
लॉकडाउन: शरद पवार ने सीएम उद्धव ठाकरे से की मुलाकात, महाराष्ट्र में ढील देने का दिया सुझाव

नई दिल्ली। शिवसेना मुखिया और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को राज्य के किसानों को भरोसा दिलाया कि पूर्ण कृषि ऋण माफी की जाएगी। सीएम ठाकरे ने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस के उस बयान को लेकर उन्हें आड़े हाथ लिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा महाराष्ट्र विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी है। शिवसेना प्रमुख ने चुटकी लेते हुए कहा कि शरद पवार ने हमें सिखाया है कि कृषि उत्पादकता कैसे बढ़ाई जाए और विधानसभा में संख्या में कम विधायकों के होने पर भी कैसे सरकार बनाई जाए।

Maharashtra Cm Uddhav Thackeray Said Sharad Pawar Taught Us How A Government Is Formed Even When There Are Low Numbers In The Assembly :

उद्धव ठाकरे का यह बयान शिवसेना के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार द्वारा कृषि ऋण माफी को औपचारिक रूप से मंजूर किए जाने के एक दिन बाद आया है। इसके तहत एक अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2019 तक किसानों द्वारा लिए गए दो लाख रुपये तक के लघु अवधि के कृषि ऋण माफ कर दिए जाएंगे।

इस योजना के तहत नये सिरे से तय की गई पुनर्भुगतान की किश्त (लघु अवधि कृषि ऋण) के 30 सितंबर 2019 तक के बकाये को माफ किया जाएगा। ठाकरे ने कहा कि हमने किसानों को फौरी राहत के तौर पर दो लाख रुपये (प्रति किसान) ऋण माफी की है। हम जल्द ही यह भी सुनिश्चित करेंगे कि किसानों की फसल का सारा ऋण माफ हो। उन्होंने यहां वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट की सालाना आम सभा बैठक को संबोधित करते हुए यह कहा। इस संस्थान के अध्यक्ष राकांपा प्रमुख शरद पवार भी उपस्थित थे।

नई दिल्ली। शिवसेना मुखिया और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को राज्य के किसानों को भरोसा दिलाया कि पूर्ण कृषि ऋण माफी की जाएगी। सीएम ठाकरे ने पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फड़णवीस के उस बयान को लेकर उन्हें आड़े हाथ लिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा महाराष्ट्र विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी है। शिवसेना प्रमुख ने चुटकी लेते हुए कहा कि शरद पवार ने हमें सिखाया है कि कृषि उत्पादकता कैसे बढ़ाई जाए और विधानसभा में संख्या में कम विधायकों के होने पर भी कैसे सरकार बनाई जाए। उद्धव ठाकरे का यह बयान शिवसेना के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार द्वारा कृषि ऋण माफी को औपचारिक रूप से मंजूर किए जाने के एक दिन बाद आया है। इसके तहत एक अप्रैल 2015 से 31 मार्च 2019 तक किसानों द्वारा लिए गए दो लाख रुपये तक के लघु अवधि के कृषि ऋण माफ कर दिए जाएंगे। इस योजना के तहत नये सिरे से तय की गई पुनर्भुगतान की किश्त (लघु अवधि कृषि ऋण) के 30 सितंबर 2019 तक के बकाये को माफ किया जाएगा। ठाकरे ने कहा कि हमने किसानों को फौरी राहत के तौर पर दो लाख रुपये (प्रति किसान) ऋण माफी की है। हम जल्द ही यह भी सुनिश्चित करेंगे कि किसानों की फसल का सारा ऋण माफ हो। उन्होंने यहां वसंतदादा शुगर इंस्टीट्यूट की सालाना आम सभा बैठक को संबोधित करते हुए यह कहा। इस संस्थान के अध्यक्ष राकांपा प्रमुख शरद पवार भी उपस्थित थे।