महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे सात मार्च को जाएंगे अयोध्या, भगवान राम का लेंगे आशीर्वाद

uddav thakare
महाराष्ट्र CM उद्धव ठाकरे सात मार्च को जाएंगे अयोध्या, भगवान राम का लेंगे आशीर्वाद

नई दिल्ली। महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thakeray) राम मंदिर दर्शन के लिए अयोध्या (Ayodhya) जाएंगे। महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने के बाद अब उद्धव ठाकरे सात मार्च को अयोध्या आएंगे। श्री राम जन्मभूमि के दर्शन के बाद वे शरयू नदी पर आरती करेंगे। ये दौरा सरकार के सौ दिन पूरे होने पर आयोजित किया जाएगा।

Maharashtra Cm Uddhav Thackeray To Visit Ayodhya On March 7 Seek Blessings Of Lord Ram :

गठबंधन के नेताओं को साथ चलने की अपील

पिठले दिनों संजय राउत ने ट्वीट कर कहा था कि वो चाहते हैं कि गठबंधन के नेता भी उनके साथ जाएं। उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी भी कई मंदिरों के दर्शन करते हैं। महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी के साथ मिलकर सरकार चला रही शिवसेना सरकार बनने के बाद लगातार बीजेपी के निशाने पर है। बीजेपी नेता शिवसेना पर भगवा से कांग्रेस के रंग में लगने का आरोप लगा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले दिनों शिवसेना पर सीएम पद के लिए विचारधारा से समझौता करने का आरोप लगाया था।

नवंबर में उद्धव ने टाल दिया था अयोध्या दौरा

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव परिणाम की पिछले साल अक्तूबर में घोषणा के बाद सत्ता साझा करने को लेकर मतभेद के कारण शिवसेना और भाजपा का गठबंधन टूट गया था। इसके बाद ठाकरे का उत्तर प्रदेश स्थित अयोध्या का यह पहला दौरा होगा। नौ नवंबर 2019 को अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद उद्धव ठाकरे ने एलान किया था कि वह 24 नवंबर, 2019 को अयोध्या जाएंगे।

लेकिन राज्य में तेजी से बदले राजनीतिक हालात के चलते उन्होंने अयोध्या दौरा टाल दिया था। शिवसेना ने महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए अंत में राकांपा एवं कांग्रेस से हाथ मिला लिया था। ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी और हाल ही में उन्होंने कार्यालय में 50 दिन पूरे किए।

जून 2019 में 18 सांसदों के साथ गए थे अयोध्या

ठाकरे आखिरी बार जून 2019 में पार्टी के नवनिर्वाचित 18 सांसदों के साथ अयोध्या गए थे और रामलला मंदिर में पूजा अर्चना की थी। उस वक्त शिवसेना भाजपा की सहयोगी पार्टी थी, लेकिन अब दोनों के रास्ते अलग हो चुके हैं।  

नई दिल्ली। महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thakeray) राम मंदिर दर्शन के लिए अयोध्या (Ayodhya) जाएंगे। महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने के बाद अब उद्धव ठाकरे सात मार्च को अयोध्या आएंगे। श्री राम जन्मभूमि के दर्शन के बाद वे शरयू नदी पर आरती करेंगे। ये दौरा सरकार के सौ दिन पूरे होने पर आयोजित किया जाएगा। गठबंधन के नेताओं को साथ चलने की अपील पिठले दिनों संजय राउत ने ट्वीट कर कहा था कि वो चाहते हैं कि गठबंधन के नेता भी उनके साथ जाएं। उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी भी कई मंदिरों के दर्शन करते हैं। महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी के साथ मिलकर सरकार चला रही शिवसेना सरकार बनने के बाद लगातार बीजेपी के निशाने पर है। बीजेपी नेता शिवसेना पर भगवा से कांग्रेस के रंग में लगने का आरोप लगा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले दिनों शिवसेना पर सीएम पद के लिए विचारधारा से समझौता करने का आरोप लगाया था। नवंबर में उद्धव ने टाल दिया था अयोध्या दौरा महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव परिणाम की पिछले साल अक्तूबर में घोषणा के बाद सत्ता साझा करने को लेकर मतभेद के कारण शिवसेना और भाजपा का गठबंधन टूट गया था। इसके बाद ठाकरे का उत्तर प्रदेश स्थित अयोध्या का यह पहला दौरा होगा। नौ नवंबर 2019 को अयोध्या विवाद में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद उद्धव ठाकरे ने एलान किया था कि वह 24 नवंबर, 2019 को अयोध्या जाएंगे। लेकिन राज्य में तेजी से बदले राजनीतिक हालात के चलते उन्होंने अयोध्या दौरा टाल दिया था। शिवसेना ने महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए अंत में राकांपा एवं कांग्रेस से हाथ मिला लिया था। ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी और हाल ही में उन्होंने कार्यालय में 50 दिन पूरे किए। जून 2019 में 18 सांसदों के साथ गए थे अयोध्या ठाकरे आखिरी बार जून 2019 में पार्टी के नवनिर्वाचित 18 सांसदों के साथ अयोध्या गए थे और रामलला मंदिर में पूजा अर्चना की थी। उस वक्त शिवसेना भाजपा की सहयोगी पार्टी थी, लेकिन अब दोनों के रास्ते अलग हो चुके हैं।