महाराष्ट्र: बहुमत परीक्षण से पहले सदन में बोले फडणवीस- वंदे मातरम् से क्यों नहीं हुई सदन की शुरुआत

Devendra fadanavish
महाराष्ट्र: बहुमत परीक्षण से पहले सदन में बोले फडणवीस- वंदे मातरम् से क्यों नहीं हुई सदन की शुरुआत

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की आज पहली अग्निपरीक्षा है। उद्धव सरकार आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी। विधानसभा में अधिकतर विधायक पहुंच चुके हैं। इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पहली बार विधानसभा पहुंचे।

Maharashtra Fadnavis Spoke In The House Before The Majority Test Why Did Not The House Begin With Vande Mataram :

विधानसभा में प्रवेश करने से पहले उद्धव ने शिवाजी की मूर्ति को माला पहनाई और आशीर्वाद लिया। शिवसेना ने दावा किया है कि उसके पास निर्दिलीय विधायकों के साथ कई छोटे दलों का भी समर्थन है। शिवसेना नेताओं ने फ्लोर टेस्ट में करीब 170 वोट मिलने की उम्मीद जताई है।

उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी महाविकास अघाड़ी सरकार के बहुमत परीक्षण की कार्यवाही शुरू हो गई है। 288 सदस्यों के सदन में अघाड़ी में शामिल शिवसेना के पास 56, एनसीपी के पास 54 और कांग्रेस के पास 44 विधायक हैं। इस प्रकार गठबंधन के पास कुल 154 विधायकों का समर्थन है, जबकि बहुमत जादुई आंकड़ा 145 का है। देवेंद्र फडणवीस ने ‘वंदे मातरम’ पर उद्धव सरकार को घेरा

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सदन की कार्यवाही के शुरुआत में वंदे मातरम को न गाने पर सवाल उठाए। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से पूछा कि इस सत्र की शुरुआत वंदे मातरम से क्यों नहीं हुआ। नियमों के खिलाफ सदन को बुलाया गया। विधानसभा अध्यक्ष ने प्वाइंट ऑफ ऑर्डर को जारी करने से इनकार कर दिया।

इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की नेता सुप्रिया सुले और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बहुमत परीक्षण के लिए विधानसभा पहुंचे । इनके अलावा सभी पार्टियों के विधायकों के भी विधानसभा पहुंचने का सिलसिला जारी है।

नाना पटोले ने नामांकन पत्र दाखिल किया
महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस नेता नाना पटोले ने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। इस दौरान उनके साथ एनसीपी के नेता और कैबिनेट मंत्री छगन भुजबल, प्रफुल्ल पटेल और शिवसेना कोटे से मंत्री बने एकनाथ शिंदे मौजूद रहे।

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की आज पहली अग्निपरीक्षा है। उद्धव सरकार आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी। विधानसभा में अधिकतर विधायक पहुंच चुके हैं। इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पहली बार विधानसभा पहुंचे। विधानसभा में प्रवेश करने से पहले उद्धव ने शिवाजी की मूर्ति को माला पहनाई और आशीर्वाद लिया। शिवसेना ने दावा किया है कि उसके पास निर्दिलीय विधायकों के साथ कई छोटे दलों का भी समर्थन है। शिवसेना नेताओं ने फ्लोर टेस्ट में करीब 170 वोट मिलने की उम्मीद जताई है। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में बनी महाविकास अघाड़ी सरकार के बहुमत परीक्षण की कार्यवाही शुरू हो गई है। 288 सदस्यों के सदन में अघाड़ी में शामिल शिवसेना के पास 56, एनसीपी के पास 54 और कांग्रेस के पास 44 विधायक हैं। इस प्रकार गठबंधन के पास कुल 154 विधायकों का समर्थन है, जबकि बहुमत जादुई आंकड़ा 145 का है। देवेंद्र फडणवीस ने 'वंदे मातरम' पर उद्धव सरकार को घेरा पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सदन की कार्यवाही के शुरुआत में वंदे मातरम को न गाने पर सवाल उठाए। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से पूछा कि इस सत्र की शुरुआत वंदे मातरम से क्यों नहीं हुआ। नियमों के खिलाफ सदन को बुलाया गया। विधानसभा अध्यक्ष ने प्वाइंट ऑफ ऑर्डर को जारी करने से इनकार कर दिया। इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की नेता सुप्रिया सुले और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बहुमत परीक्षण के लिए विधानसभा पहुंचे । इनके अलावा सभी पार्टियों के विधायकों के भी विधानसभा पहुंचने का सिलसिला जारी है। नाना पटोले ने नामांकन पत्र दाखिल किया महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस नेता नाना पटोले ने नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। इस दौरान उनके साथ एनसीपी के नेता और कैबिनेट मंत्री छगन भुजबल, प्रफुल्ल पटेल और शिवसेना कोटे से मंत्री बने एकनाथ शिंदे मौजूद रहे।