गर्लफ्रेंड को मनाने के लिए लड़के ने पूरे शहर में लगा दिए ‘I AM SORRY!’ के बैनर

गर्लफ्रेंड को मनाने के लिए लड़के ने पूरे शहर में लगा दिए 'I AM SORRY!' के बैनर
गर्लफ्रेंड को मनाने के लिए लड़के ने पूरे शहर में लगा दिए 'I AM SORRY!' के बैनर

पुणे। महाराष्ट्र में पुणे के पास पिंपरी चिंचवड़ में एक व्यक्ति ने अपनी गर्लफ्रेंड को परोक्ष रूप से झगड़े के बाद मनाने के लिए 300 से अधिक बैनर और होर्डिंग लगा दिए। पिंपरी चिंचवड क्षेत्र के निवासी जब शुक्रवार की सुबह उठे तो उन्होंने ऐसे कई पोस्टर लगे देखे जिन पर मोटे अक्षरों में लिखा था, (लड़की का नाम), मैं माफी मांगता हूं’ और उसके बगल में दिल का निशान भी बना था। ऐसे पोस्टर विशेष तौर पर मुख्य चौराहों पर लगे थे। ये पोस्टर खासतौर पर मुख्य चौराहों पर लगाए गए। स्थानीय व्यापारी निलेश खेदकर (25) पर होर्डिंग्स लगाने का आरोप है।

Maharashtra Man Puts Up Over 300 Banners To Make Up With Girlfriend :

पुलिस के मुताबिक, आरोपी निलेश की तलाश उसके दोस्त विलाश शिंदे की मदद से की जा रही है। क्योंकि शिंदे की मदद से उसने शहर में होर्डिंग्स लगवाए थे। विलास के मुताबिक, ‘निलेश खेदकर का पिछले दिनों अपनी प्रेमिका से झगड़ा हो गया था। इसके बाद वह सुलह करना चाहता था। शनिवार को लड़की मुंबई से पुणे आ रही थी और उसे इसी सड़क से गुजरना था। इसीलिए माफी मांगने के लिए इलाके में होर्डिंग्स लगाए गए।

अवैध होर्डिंग और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले नगर निगम ही देखता है। वकड पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि कल होर्डिंग के बारे में सूचना मिलने के बाद मामले में जांच शुरू कर दी गई थी। अधिकारी ने कहा, ‘हम उस व्यक्ति के मित्र विलास शिंदे तक पहुंचे जिसने खेदकर की फ्लेक्स होर्डिंग के मुद्रण में मदद की थी। हमने उस खेदकर का भी पता लगा लिया, जिसका दिमाग इसके पीछे था। ‘

अधिकारी ने बताया कि उसने शिंदे ने बताया कि खेदकर माफी मांगना चाहता था और अपनी महिला मित्र से झगड़े के बाद सुलह करना चाहता था और इसलिए उसके दिमाग में यह विचार आया।

पुणे। महाराष्ट्र में पुणे के पास पिंपरी चिंचवड़ में एक व्यक्ति ने अपनी गर्लफ्रेंड को परोक्ष रूप से झगड़े के बाद मनाने के लिए 300 से अधिक बैनर और होर्डिंग लगा दिए। पिंपरी चिंचवड क्षेत्र के निवासी जब शुक्रवार की सुबह उठे तो उन्होंने ऐसे कई पोस्टर लगे देखे जिन पर मोटे अक्षरों में लिखा था, (लड़की का नाम), मैं माफी मांगता हूं' और उसके बगल में दिल का निशान भी बना था। ऐसे पोस्टर विशेष तौर पर मुख्य चौराहों पर लगे थे। ये पोस्टर खासतौर पर मुख्य चौराहों पर लगाए गए। स्थानीय व्यापारी निलेश खेदकर (25) पर होर्डिंग्स लगाने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी निलेश की तलाश उसके दोस्त विलाश शिंदे की मदद से की जा रही है। क्योंकि शिंदे की मदद से उसने शहर में होर्डिंग्स लगवाए थे। विलास के मुताबिक, ‘निलेश खेदकर का पिछले दिनों अपनी प्रेमिका से झगड़ा हो गया था। इसके बाद वह सुलह करना चाहता था। शनिवार को लड़की मुंबई से पुणे आ रही थी और उसे इसी सड़क से गुजरना था। इसीलिए माफी मांगने के लिए इलाके में होर्डिंग्स लगाए गए। अवैध होर्डिंग और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले नगर निगम ही देखता है। वकड पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि कल होर्डिंग के बारे में सूचना मिलने के बाद मामले में जांच शुरू कर दी गई थी। अधिकारी ने कहा, 'हम उस व्यक्ति के मित्र विलास शिंदे तक पहुंचे जिसने खेदकर की फ्लेक्स होर्डिंग के मुद्रण में मदद की थी। हमने उस खेदकर का भी पता लगा लिया, जिसका दिमाग इसके पीछे था। ' अधिकारी ने बताया कि उसने शिंदे ने बताया कि खेदकर माफी मांगना चाहता था और अपनी महिला मित्र से झगड़े के बाद सुलह करना चाहता था और इसलिए उसके दिमाग में यह विचार आया।