महाराष्ट्र : कांग्रेस के नाना पटोले निर्विरोध चुने गए विधानसभा अध्यक्ष, पीछे हटी बीजेपी

nana
महाराष्ट्र : कांग्रेस के नाना पटोले निर्विरोध चुने गए विधानसभा अध्यक्ष, पीछे हटी बीजेपी

मुंबई। महाराष्ट्र में बीजेपी ने विधानसभा अध्यक्ष पद के अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया है। ऐसे में कांग्रेस नेता नाना पटोले निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए हैं। रविवार सुबह दस बजे तक नामांकन वापस लेने की समयसीमा थी। कांग्रेस ने राज्य विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर पार्टी विधायक नाना पटोले के नाम का शनिवार को एलान किया जबकि भाजपा ने कथोरे को अपना प्रत्याशी बनाया था।

Maharashtra Nana Patole Of Congress Elected Unopposed As Speaker Bjp Retreats :

बता दें कि नाना पटोले विदर्भ में साकोली विधानसभा का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि कथोरे ठाणे में मुरबाड से विधायक हैं। यह दोनों का विधायक के तौर पर चौथा कार्यकाल है। वहीं, महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा, भाजपा ने कल किसान कठोरे को महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष के पद के लिए नामित किया था। लेकिन कई बार अनुरोध किए जाने के बाद हमने कथोरे की उम्मीदवारी वापस लेने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि, महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व में बनने वाली गठबंधन सरकार को लेकर सबकी नजर दिल्ली में रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की बैठक पर टिकी है। बैठक में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी की सरकार के भविष्य के लिए निर्णायक साबित हो सकती है। इस बीच, नागपुर में पवार ने कहा कि तीन दल मिलकर सरकार बना रहे हैं, इसलिए समय लग सकता है।

मुंबई। महाराष्ट्र में बीजेपी ने विधानसभा अध्यक्ष पद के अपने उम्मीदवार का नाम वापस ले लिया है। ऐसे में कांग्रेस नेता नाना पटोले निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष चुने गए हैं। रविवार सुबह दस बजे तक नामांकन वापस लेने की समयसीमा थी। कांग्रेस ने राज्य विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर पार्टी विधायक नाना पटोले के नाम का शनिवार को एलान किया जबकि भाजपा ने कथोरे को अपना प्रत्याशी बनाया था। बता दें कि नाना पटोले विदर्भ में साकोली विधानसभा का प्रतिनिधित्व करते हैं, जबकि कथोरे ठाणे में मुरबाड से विधायक हैं। यह दोनों का विधायक के तौर पर चौथा कार्यकाल है। वहीं, महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा, भाजपा ने कल किसान कठोरे को महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष के पद के लिए नामित किया था। लेकिन कई बार अनुरोध किए जाने के बाद हमने कथोरे की उम्मीदवारी वापस लेने का फैसला किया है। गौरतलब है कि, महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व में बनने वाली गठबंधन सरकार को लेकर सबकी नजर दिल्ली में रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार की बैठक पर टिकी है। बैठक में शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी की सरकार के भविष्य के लिए निर्णायक साबित हो सकती है। इस बीच, नागपुर में पवार ने कहा कि तीन दल मिलकर सरकार बना रहे हैं, इसलिए समय लग सकता है।