महाराष्ट्र सियासत : ओवैसी ने गठबंधन पर कसा तंज, कहा-निकाह होगा तभी सोचेंगे बेटो होगा या बेटी

Owaisi
महाराष्ट्र सियासत : ओवैसी ने गठबंधन पर कसा तंज, कहा-निकाह होगा तभी सोचेंगे बेटो होगा या बेटी

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है। इस बीच ऑल इंडिया मजलिस-इत्तेहालदुल-मुसलीमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने गठबंधन पर तंज कसा है। ओवैसी से जब पूछा गया कि अगर एनसीपी से किसी के सीएम बनने की बात होती है तो क्या आपकी पार्टी उन्हें समर्थन देने पर विचार करेगी।

Maharashtra Politics Owaisi Tightened The Alliance Said Will Only Think Beto Or Daughter :

इस पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि पहले निकाह होगा उसके बाद सोचेंगे की बेटा होगा या बेटी होगी। अभी तो निकाह ही नहीं हुआ। विचार करने के लिए कुछ भी नहीं है। ये सब खेल हो रहा है।  महाराष्ट्र में सियासी दांव पेंच के बीच ओवैसी ने गठबंधन को लेकर तंज कसना शुरू कर दिया है।

महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर के बाद से ही सियासी ड्रामा जारी है। शिवसेना और बीजेपी का गठबंधन वहां पर खत्म हो गया है। इसके बाद से एनसीपी और कांग्रेस के साथ गठबंधन करके शिवसेना सरकार बनाना चाहती है, लेकिन अभी तक बात नहीं बनी है। ओवैसी ने इस दौरान यह भी कहा ‘हम न तो भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन करेंगे और न ही शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार का।

हम अपने रुख को दोहराते हैं। मैं अब खुश हूं कि अगर कांग्रेस-एनसीपी शिवसेना का समर्थन करती हैं, तो लोगों को पता चल जाएगा कि कौन किसके वोट काट रहा है और कौन किससे टकरा रहा है।

मुंबई। महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है। इस बीच ऑल इंडिया मजलिस-इत्तेहालदुल-मुसलीमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने गठबंधन पर तंज कसा है। ओवैसी से जब पूछा गया कि अगर एनसीपी से किसी के सीएम बनने की बात होती है तो क्या आपकी पार्टी उन्हें समर्थन देने पर विचार करेगी। इस पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि पहले निकाह होगा उसके बाद सोचेंगे की बेटा होगा या बेटी होगी। अभी तो निकाह ही नहीं हुआ। विचार करने के लिए कुछ भी नहीं है। ये सब खेल हो रहा है।  महाराष्ट्र में सियासी दांव पेंच के बीच ओवैसी ने गठबंधन को लेकर तंज कसना शुरू कर दिया है। महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर के बाद से ही सियासी ड्रामा जारी है। शिवसेना और बीजेपी का गठबंधन वहां पर खत्म हो गया है। इसके बाद से एनसीपी और कांग्रेस के साथ गठबंधन करके शिवसेना सरकार बनाना चाहती है, लेकिन अभी तक बात नहीं बनी है। ओवैसी ने इस दौरान यह भी कहा 'हम न तो भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन करेंगे और न ही शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार का। हम अपने रुख को दोहराते हैं। मैं अब खुश हूं कि अगर कांग्रेस-एनसीपी शिवसेना का समर्थन करती हैं, तो लोगों को पता चल जाएगा कि कौन किसके वोट काट रहा है और कौन किससे टकरा रहा है।