1. हिन्दी समाचार
  2. महाराष्ट्र: संतो की हत्या पर बोले उद्धव- घटना को न दें हिंदू-मुस्लिम का रूप, अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई

महाराष्ट्र: संतो की हत्या पर बोले उद्धव- घटना को न दें हिंदू-मुस्लिम का रूप, अफवाह फैलाई तो होगी कार्रवाई

Maharashtra Uddhav Said On The Killing Of Saints Do Not Give The Form Of Hindu Muslim Incident

मुंबई। महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं के साथ हुई मॉब लिंचिंग की घटना को लेकर पूरे देश के हिंदुओं में आक्रोश हैं, वहीं कई हिंदू दलों ने सीबीआई जांच की भी मांग की है और पुलिस की मौजूदगी में हुई हत्या पर पुलिस की भूमिका पर भी संदेश उठ रहे हैं। सोशल मीडिया पर लगातार इसे धार्मिक हत्या बताया जा रहा है। उद्धव सरकार इस घटना के बाद पूरी तरह से विपक्ष के निशाने पर है। वहीं सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और इस मसले पर सरकार का रुख सभी के सामने रखा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि उनकी सरकार किसी भी दोषी को नहीं छोड़ेगी, लोग इस मसले को भड़काने की कोशिश ना करें। बता दें कि मॉब लिचिंग घटना में भीड़ ने तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी।

पढ़ें :- जम्मू-कश्मीरः सुरक्षाबलों ने घुसपैठ की कोशिश कर रहे तीन आतंकियों का मार गिराया

उद्धव ठाकरे ने घटना को लेकर कहा कि ये हिंदू-मुस्लिम जैसा कोई मामला नहीं है, इस बारे में मेरी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी बात हुई है। हर किसी को इस बारे में समझाया गया है कि ये धर्म से जुड़ा मामला नहीं है, लेकिन जो भी सोशल मीडिया के जरिए आग लगाने और मामला भड़काने की कोशिश करेगा उसपर कड़ा एक्शन लिया जाएगा।

सरकार द्वारा बताया गया कि पालघर के पास एक गांव में भीड़ ने 3 लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी, तीनों लोगों पर चोरी करने का शक था। बता दें कि इस दौरान वहां पर पुलिसकर्मी भी खड़े थे, लेकिन वो सिर्फ तमाशा देखते रहे। राज्य सरकार की ओर से इस मामले में एक्शन लिया गया है, 100 से अधिक लोग हिरासत में लिए गए हैं जबकि अन्य पर केस भी दर्ज किया गया है। वहीं दो पुलिस कर्मी सस्पेंड भी किये गये हैं।

उद्धव ने कहा कि साधू लोग जब सूरत जा रहे थे, तब उन्होंने दादर-नगर हवेली के बॉर्डर पर रोका गया और वापस भेज दिया गया। अगर ऐसा नहीं होता, तो घटना नहीं होती। उद्धव ठाकरे ने कहा कि पालघर के जिस इलाके में ये घटना हुई है, वो काफी दुर्गम इलाका है। ऐसे में ये तीन लोग वहां से गुजरते हुए गुजरात की ओर जा रहे थे, लेकिन वहां पर गांव के लोगों को रात के वक्त कुछ गलतफहमी हुई और उन्हें चोरी का शक लगा। तो हमला किया गया, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि यहां कुछ दिनों से चोरों के घूमने की अफवाह है, इसी वजह से गांव वालों ने ऐसा हमला किया। लेकिन गलतफहमी के बावजूद किसी को बख्शा नहीं जाएगा, कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। लोगों ने पुलिसवालों पर भी हमला किया है, ऐसे में कड़े से कड़ा एक्शन लिया जाएगा।

पढ़ें :- 20 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाला है आर्थिक लाभ, जानिए अपनी राशि का हाल

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...