1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. महाराष्ट्र : अंधेरी पूर्व विधानसभा सीट पर उद्धव ठाकरे की जल सकती है मशाल, बीजेपी के फैसले पर टिकी सबकी निगाहें

महाराष्ट्र : अंधेरी पूर्व विधानसभा सीट पर उद्धव ठाकरे की जल सकती है मशाल, बीजेपी के फैसले पर टिकी सबकी निगाहें

शिवसेना में फूट होने के बाद पहली बार हो रहा अंधेरी पूर्व विधानसभा सीट (Andheri East Assembly Seat) का चुनावी मुकाबला हो रहा है। यह चुनाव उद्धव ठाकरे गुट (Uddhav Thackeray's group) के पक्ष में जा सकता है। बता दें कि बीते कई दिनों में इस चुनाव को लेकर बड़े उतार-चढ़ाव देखने को मिले हैं। अब चर्चा है कि भाजपा (BJP) की ओर से उम्मीदवार का नाम ही वापस लिया जा सकता है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुंबई। शिवसेना में फूट होने के बाद पहली बार हो रहा अंधेरी पूर्व विधानसभा सीट (Andheri East Assembly Seat) का चुनावी मुकाबला हो रहा है। यह चुनाव उद्धव ठाकरे गुट (Uddhav Thackeray’s group) के पक्ष में जा सकता है। बता दें कि बीते कई दिनों में इस चुनाव को लेकर बड़े उतार-चढ़ाव देखने को मिले हैं। अब चर्चा है कि भाजपा (BJP) की ओर से उम्मीदवार का नाम ही वापस लिया जा सकता है।

पढ़ें :- महाराष्ट्र के नासिक-शिरडी राजमार्ग पर भीषण सड़क हादसा, 10 की मौत, कई लोग घायल

ऐसा हुआ तो उद्धव ठाकरे  गुट (Uddhav Thackeray’s group) की उम्मीदवार रुतुजा लटके निर्विरोध ही विधायक चुनी जाएंगी। इस तरह पार्टी में विभाजन के बाद उद्धव गुट (Uddhav group)  को पहली जीत मिल सकती है, जो उसके लिए बड़ा बूस्ट साबित हो सकता है। बता दें कि रविवार को राज ठाकरे ने देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis)  को एक चिट्ठी लिखकर सलाह दी थी कि भाजपा को अंधेरी पूर्व सीट (Andheri East Assembly Seat)  से उम्मीदवार वापस ले लेना चाहिए।

एनसीपी के मुखिया शरद पवार ने भी भाजपा (BJP) नेतृत्व से उम्मीदवार वापस लिए जाने की अपील की थी। अब एकनाथ शिंदे गुट (Eknath Shinde faction) के विधायक प्रताप सरनाईक (MLA Pratap Sarnaik) ने भी ऐसी ही अपील की है। उन्होंने चीफ मिनिस्टर एकनाथ शिंदे (Chief Minister Eknath Shinde) को चिट्ठी लिखकर मांग की है कि वे भाजपा (BJP) से कहें कि उम्मीदवार वापस ले लिया जाए। एकनाथ शिंदे गुट (Eknath Shinde faction) का कहना है कि रुतुजा लटके (Rutuja Hanging)के दिवंगत पति रमेश लटके के प्रति सम्मान जाहिर करते हुए उम्मीदवार वापस लेना चाहिए। इस सीट पर 3 नवंबर को चुनाव होना है। भाजपा की ओर से मुरजी पटेल को इस सीट से कैंडिडेट बनाया गया है।

शिंदे गुट के विधायक ने भी की उम्मीदवार वापसी की मांग

प्रताप सरनाईक (Pratap Sarnaik) ने कहा कि महाराष्ट्र में यह प्रचलन रहा है कि जब किसी नेता की मौत हो जाती है तो उसके परिजनों के चुनाव में उतरने पर उसका निर्विरोध चयन होता रहा है। यही नहीं उम्मीदवारी वापस लेने की अपीलों के बीच भाजपा (BJP) ने भी कदम पीछे हटाने के संकेत दिए हैं। देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis)  का कहना है कि पार्टी में सलाह-मशविरे के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा। हालांकि पार्टी इस मसले पर बंटी हुई दिख रही है। एक तरफ फडणवीस ने ठाकरे की अपील पर विचार करने की बात कही है तो वहीं एक वर्ग मानता है कि चुनाव होना चाहिए।

पढ़ें :- महाराष्ट्र में गठबंधन पर छाया ग्रहण! कर्नाटक से सीमा विवाद को बंटे शिंदे-फडणवीस

फैसले लेने वाला मैं अकेला नहीं : फडणवीस

देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा कि अपनी पार्टी में फैसले लेने वाला मैं अकेला नहीं हूं। मैं इस मसले पर अपने साथियों और हाईकमान से विचार करूंगा। हमारी ओर से पहले ही मुरजी पटेल के नाम का ऐलान किया जा चुका है।’ हालांकि उन्होंने नाम वापस लेने का संकेत देते हुए कहा कि हम लोग पहले भी इस तरह के फैसले ले चुके हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...