महाशिवरात्रि विशेष: इन उपायों से दूर होंगी सभी बाधाएं, प्रसन्न होंगे भोलेनाथ

महाशिवरात्रि विशेष: इन उपायों से दूर होंगी सभी बाधाएं, प्रसन्न होंगे भोलेनाथ
महाशिवरात्रि विशेष: इन उपायों से दूर होंगी सभी बाधाएं, प्रसन्न होंगे भोलेनाथ
महाशिवरात्रि का पर्व आते ही भगवान भोलेनाथ के भक्तों में खासा उत्साह देखने को मिलता है। माना जाता है कि भोलेनाथ अपने भक्‍तों की सच्‍चे मन से मांगी गई हर मुराद को पूरी करते हैं। उनके भोले स्‍वभाव के कारण ही उन्‍हें भोले बाबा कहा जाता है। संसार में सर्वशक्‍तिशाली भोलेनाथ को ही कहा जाता है। महाशिवरात्रि के महापर्व पर सभी भक्त भोलेनाथ को प्रसन्न कर उनसे मनचाहा वरदान मांगते हैं। ऐसी मान्यता है इस दिन भगवान शिव का विवाह…

महाशिवरात्रि का पर्व आते ही भगवान भोलेनाथ के भक्तों में खासा उत्साह देखने को मिलता है। माना जाता है कि भोलेनाथ अपने भक्‍तों की सच्‍चे मन से मांगी गई हर मुराद को पूरी करते हैं। उनके भोले स्‍वभाव के कारण ही उन्‍हें भोले बाबा कहा जाता है। संसार में सर्वशक्‍तिशाली भोलेनाथ को ही कहा जाता है।

महाशिवरात्रि के महापर्व पर सभी भक्त भोलेनाथ को प्रसन्न कर उनसे मनचाहा वरदान मांगते हैं। ऐसी मान्यता है इस दिन भगवान शिव का विवाह मां पार्वती से हुआ था। तो वही कईं जगह ये भी वर्णित है कि इस दिन सृष्टि का आरंभ हुआ था। ये त्यौहार बहुत ही खास है। इस दिन भक्तगण देवों के देव महादेव को प्रसन्न करने के लिए व्रत रखते हैं, पूजा-अर्चना करते हैं और अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए भगवान से प्रार्थना करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए कुछ खास चीज़ों से उनका अभिषेक करना बहुत ज़रूरी है।

{ यह भी पढ़ें:- महाशिवरात्रि 2018: 13 या 14 जाने किस दिन मनाई जाएगी शिवरात्रि }

भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए महाशिवरात्रि पर करें ये उपाय-

भगवान भोलेनाथ को धतूरा सबसे प्रिय है क्योकि क्योंकि भगवान श‌िव के स‌िर से व‌िष के प्रभाव को दूर करने के ल‌िए धतूरा का प्रयोग किया जाता है। इसलिए महाशिवरात्रि के पावन दिन शिवलिंग पर धतूरा ज़रूर चढा़एं। इससे शत्रु कम होते हैं और धन लाभ भी होता है। इसके अलावा धतूरे का फूल भी भगवान श‌िव को प्र‌िय है। ऐसा माना जाता है कि क्योकि ये फूल सफेद रंग का होता है इसलिए इसे शिवलिंग पर अर्पित करने से मानसिक शांति मिलती है।

गंगा देवलोक से भगवान शिव की जटा में आकर समाई थी और उसके बाद धरती पर उनका आगमन हुआ था। गंगा के पावन जल से भगवान शिव का अभिषेक करने से भी शिवजी अत्यन्त प्रसन्न होते हैं। गन्ने के रस से भगवान शिव का अभिषेक करना भी शुभ फलदायी होता है। गन्ने के रस से श‌िवल‌िंग का अभ‌िषेक करने से धन-धान्य की प्राप्त‌ि होती है और ग्रह दोषों से मुक्ति मिलती है।

बेलपत्र भी भगवान शिव को बहुत प्रिय है, भगवान शिव को महाशिवरात्रि के दिन बेलपत्र चढ़ाने से भी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है लेकिन याद रखें कि बिना कटा-फटा बेलपत्र ही भगवान शिव को चढ़ाएं। बेलपत्र के तीन पत्तों को तीन देवों का प्रतीक माना जाता है। काल सर्प दोष या फिर राहु दोष को दूर करने के लिए महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर चांदी के नाग-नागिन का जोड़ा अर्पित करें।

Loading...