महावीर जयंती पर पीएम मोदी ने दी देशवासियों को बधाई, जानिए इनसे जुड़ी कुछ खास बातें

महावीर जयंती ,पीएम मोदी ,mahavir jayanti
महावीर जयंती पर पीएम मोदी ने दी देशवासियों को बधाई, जानिए इनसे जुड़ी कुछ खास बातें
नई दिल्ली। आज यानी 29 मार्च को देशभर में महावीर जयंती मनाई जा रही है। इस दिन को जैन समुदाय का सबसे बड़ा पर्व माना जाता है। महावीर जयंती के खास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द समेत राहुल गांधी ने ट्वीटर के माध्यम से देशवासियों को बधाई दी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्वीट कर महावीर जयंती की बधाई दी है। कोविंद ने ट्वीट किया- महावीर जयंती के अवसर पर, मैं सभी देशवासियों, विशेषकर…

नई दिल्ली। आज यानी 29 मार्च को देशभर में महावीर जयंती मनाई जा रही है। इस दिन को जैन समुदाय का सबसे बड़ा पर्व माना जाता है। महावीर जयंती के खास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द समेत राहुल गांधी ने ट्वीटर के माध्यम से देशवासियों को बधाई दी।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्वीट कर महावीर जयंती की बधाई दी है। कोविंद ने ट्वीट किया- महावीर जयंती के अवसर पर, मैं सभी देशवासियों, विशेषकर जैन समुदाय को, बधाई देता हूं। भगवान महावीर की शिक्षाएं आज के युग के लिए प्रासंगिक और महत्वपूर्ण हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि भगवान महावीर के शांति, अहिंसा तथा समरसता के संदेश हम लोगों के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं।

भगवान महावीर का जन्म

{ यह भी पढ़ें:- अखिलेश यादव ने कन्नौज से लोकसभा चुनाव लड़ने का किया ऐलान }

भगवान महावीर का जन्म चैत्र शुक्ल पक्ष की तेरहवीं तिथि को बिहार के कुंडग्राम में क्षत्रिय परिवार में लगभग 599 वर्ष पहले हुआ था। भगवान महावीर राजा सिद्धार्थ और रानी त्रिशला के पुत्र थे। भगवान महावीर के जन्मदिन को महावीर जयंती के रूप में मनया जाता है। महावीर स्वामी के बचपन का नाम था वर्धमान। वे बचपन से ही वीर और साहसी थे, यही नही वे बचपन से वैरागी भी थे जिसकी वजह से घर में उनका मन नहीं लगता था।

भगवान महावर के कुछ अनमोल विचार

{ यह भी पढ़ें:- भविष्य की नहीं अतीत की बात करते हैं हमारे प्रधानमंत्री: राहुल गांधी }

  • मनुष्य के दुखी होने की वजह खुद की गलतिया ही है जो मनुष्य अपनी गलतियों अपर काबू पा सकता है वही मनुष्य
  • सच्चे सुख की प्राप्ति भी कर सकता है
  • आपात स्थिति में मन को डगमगाना नहीं चाहिये।
  • आत्मा अकेले आती है अकेले चली जाती है, न कोई उसका साथ देता है न कोई उसका मित्र बनता है।
  • खुद पर विजय प्राप्त करना लाखों शत्रुओं पर विजय पाने से बेहतर है।
  • आपने कभी किसी का भला किया हो तो उसे भूल जाओ। और कभी किसी ने आपका बुरा किया हो तो उसे भूल जाओ।

Loading...