महराजगंज: मां वैष्णो इंडस्ट्रीज का लाइसेंस निलंबित

26_05_2019-25mrj41-c-1.5_19255259_0535_m

महराजगंज:उप जिलाधिकारी सदर सत्यम मिश्रा ने शनिवार को आधा दर्जन क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान मां वैष्णो इंडस्ट्रीज सिसवनिया द्वारा कोई अभिलेख प्रस्तुत नहीं किए जाने पर उप जिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से उसका लाइसेंस निलंबित कर दिया।

Mahrajang Suspended License Of Maa Vaishno Industries :

उप जिलाधिकारी सदर ने सोनरा स्थित गेहूं क्रय की जांच की। यहां गेहूं खरीद की स्थिति बहुत खराब थी। निरीक्षण के समय एक किसान ने एसडीएम के संज्ञान में लाया कि एक अप्रैल का गेहूं केंद्र प्रभारी राजेंद्र प्रसाद द्वारा नहीं लिया गया। इसके बाद उन्होंने गांवों में जाकर किसानों से पूछताछ की। किसान विनोद मिश्रा ने बताया कि 14 व 15 मई को क्रय केंद्र पर गेहूं बेचने गया था। लेकिन केंद्र प्रभारी ने बोरा नहीं होने का हवाला देते हुए वापस कर दिया, जिसके कारण साहूकार को गेहूं बेचना पड़ा।

केंद्र प्रभारी राजेंद्र प्रसाद की लापरवाही पर फटकार लगाते हुए उन्होंने कार्रवाई के लिए जिला खाद्य विपणन अधिकारी को निर्देशित किया। इसी क्रम में उन्होंने मां वैष्णो इंडस्ट्रीज सिसवनिया का भी निरीक्षण किया। यहां गोदाम में गेहूं भरा था, लेकिन वहां मौजूद कर्मी गेहूं से संबंधित कोई अभिलेख नहीं प्रस्तुत कर सके। लिहाजा एसडीएम ने मां वैष्णो इंडस्ट्रीज सिसवनिया का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। उन्होंने कहा कि गेहूं खरीद में लापरवाही व अनियमितता पाए जाने पर मुकदमा दर्ज कराने तक की कार्रवाई की जाएगी।

महराजगंज:उप जिलाधिकारी सदर सत्यम मिश्रा ने शनिवार को आधा दर्जन क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान मां वैष्णो इंडस्ट्रीज सिसवनिया द्वारा कोई अभिलेख प्रस्तुत नहीं किए जाने पर उप जिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से उसका लाइसेंस निलंबित कर दिया। उप जिलाधिकारी सदर ने सोनरा स्थित गेहूं क्रय की जांच की। यहां गेहूं खरीद की स्थिति बहुत खराब थी। निरीक्षण के समय एक किसान ने एसडीएम के संज्ञान में लाया कि एक अप्रैल का गेहूं केंद्र प्रभारी राजेंद्र प्रसाद द्वारा नहीं लिया गया। इसके बाद उन्होंने गांवों में जाकर किसानों से पूछताछ की। किसान विनोद मिश्रा ने बताया कि 14 व 15 मई को क्रय केंद्र पर गेहूं बेचने गया था। लेकिन केंद्र प्रभारी ने बोरा नहीं होने का हवाला देते हुए वापस कर दिया, जिसके कारण साहूकार को गेहूं बेचना पड़ा। केंद्र प्रभारी राजेंद्र प्रसाद की लापरवाही पर फटकार लगाते हुए उन्होंने कार्रवाई के लिए जिला खाद्य विपणन अधिकारी को निर्देशित किया। इसी क्रम में उन्होंने मां वैष्णो इंडस्ट्रीज सिसवनिया का भी निरीक्षण किया। यहां गोदाम में गेहूं भरा था, लेकिन वहां मौजूद कर्मी गेहूं से संबंधित कोई अभिलेख नहीं प्रस्तुत कर सके। लिहाजा एसडीएम ने मां वैष्णो इंडस्ट्रीज सिसवनिया का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। उन्होंने कहा कि गेहूं खरीद में लापरवाही व अनियमितता पाए जाने पर मुकदमा दर्ज कराने तक की कार्रवाई की जाएगी।