अखलाक हत्याकांड का मुख्य आरोपी यूपी से लड़ेगा लोकसभा चुनाव

अखलाक हत्याकांड का मुख्य आरोपी यूपी से लड़ेगा लोकसभा चुनाव
अखलाक हत्याकांड का मुख्य आरोपी यूपी से लड़ेगा लोकसभा चुनाव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी एक बार फिर एक विवादित बयान दिया है। जानी अपनी पार्टी नवनिर्माण सेना ने बिसाहड़ा (दादरी) में अखलाक हत्याकांड के मुख्य आरोपी रुपेन्द्र को नोएडा संसदीय सीट से चुनाव में उतारने का निर्णय किया है। आपको बता दे साल 2015 में दादरी के एक गांव बिसाहड़ा में बीफ खाने को लेकर मोहम्मद अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। रुपेंद्र राना को उत्तर प्रदेश नव-निर्माण सेना ने टिकट देने का ऐलान किया है।

Main Accused Of Akhlaq Murder Case Will Fight Election From Up :

इसके लिए सोमवार को बिसाहड़ा में एक पंचायत सभा करने का ऐलान किया गया है,जिसमें प्रत्याशी के ऐलान के नाम की घोषणा करने की बात कही गई है। वहीं मुजफ्फरनगर दंगे से पहले हुए कवाल कांड मृत सचिन और गौरव के पिता को मुजफ्फरनगर सीट से सांसद संजीव बाल्यान के खिलाफ चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया गया है। इसके अलावा मथुरा से खुद अमित जानी को पार्टी का प्रत्याशी बनाने का निर्णय है।

उत्तर प्रदेश नव-निर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने बताया कि गायों की रक्षा के लिए राना बिल्कुल सही व्यक्ति है क्योंकि उसने गौमाता के सम्मान के लिए 2.5 साल जेल में बिताए हैं। गायों के लिए कुछ करने के झूठे वादे करने के बजाए रुपेंद्र राना ने साल 2015 में ही गौमाता के लिए अपने समर्पण का सबूत दे दिया है। अमित जानी ने बताया कि रुपेंद्र राना को पार्टी की तरफ से लोकसभा प्रत्याशी बनाए जाने की औपचारिक घोषणा बिसहाड़ा गांव में ही की जाएगी। अमित जानी ने बताया कि आगरा, मथुरा और नोएडा के उम्मीदवारों के समर्थन में एक ज्वाइंट रैली आगामी 14 अक्टूबर को मथुरा के मांट इलाके में आयोजित की जाएगी।

ध्यान हो कि दिल्ली के पास यूपी में दादरी बिलाहदा गांव में भीड़ ने एक वायुसेना कर्मी के 50 वर्षीय पिता की पीट-पीटकर इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि ये अफ़वाह थी कि उसने और उसके परिवार ने गौमांस खाया और घर में रखा था। यह घटना दिल्‍ली से सटे उत्‍तर प्रदेश के दादरी में हुई, जहां मोहम्‍मद अखलाक और उसके बेटे को गांववाले घर से बाहर घसीटकर लाए और उन्‍हें ईंटों से जमकर पीटा।

इस घटना में अखलाक की मौत हो गई, जबकि उसका बेटा गंभीर हालत में अस्‍पताल में भर्ती हैं। जब पुलिस घटनास्‍थल पर पहुंची, तब भी भीड़ उन दोनों को पीट रही थी। इस मामले में पुलिस ने देर रात छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अखलाक के परिवारवालों का कहना है कि उन्‍होंने फ्रीज पर में केवल मटन रखा हुआ था।

पुलिस ने मीट को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि यह परिवार पिछले 35 सालों से इस गांव में रह रहा था। वह अफवाह के बारे में जांच कर रही है। एक वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने एस किरण ने कहा था कि हमने पाया है कि लोगों ने उन्‍हें इसलिए पीटा कि उन्‍होंने गाय का मांस खाया था।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी एक बार फिर एक विवादित बयान दिया है। जानी अपनी पार्टी नवनिर्माण सेना ने बिसाहड़ा (दादरी) में अखलाक हत्याकांड के मुख्य आरोपी रुपेन्द्र को नोएडा संसदीय सीट से चुनाव में उतारने का निर्णय किया है। आपको बता दे साल 2015 में दादरी के एक गांव बिसाहड़ा में बीफ खाने को लेकर मोहम्मद अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। रुपेंद्र राना को उत्तर प्रदेश नव-निर्माण सेना ने टिकट देने का ऐलान किया है। इसके लिए सोमवार को बिसाहड़ा में एक पंचायत सभा करने का ऐलान किया गया है,जिसमें प्रत्याशी के ऐलान के नाम की घोषणा करने की बात कही गई है। वहीं मुजफ्फरनगर दंगे से पहले हुए कवाल कांड मृत सचिन और गौरव के पिता को मुजफ्फरनगर सीट से सांसद संजीव बाल्यान के खिलाफ चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया गया है। इसके अलावा मथुरा से खुद अमित जानी को पार्टी का प्रत्याशी बनाने का निर्णय है। उत्तर प्रदेश नव-निर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने बताया कि गायों की रक्षा के लिए राना बिल्कुल सही व्यक्ति है क्योंकि उसने गौमाता के सम्मान के लिए 2.5 साल जेल में बिताए हैं। गायों के लिए कुछ करने के झूठे वादे करने के बजाए रुपेंद्र राना ने साल 2015 में ही गौमाता के लिए अपने समर्पण का सबूत दे दिया है। अमित जानी ने बताया कि रुपेंद्र राना को पार्टी की तरफ से लोकसभा प्रत्याशी बनाए जाने की औपचारिक घोषणा बिसहाड़ा गांव में ही की जाएगी। अमित जानी ने बताया कि आगरा, मथुरा और नोएडा के उम्मीदवारों के समर्थन में एक ज्वाइंट रैली आगामी 14 अक्टूबर को मथुरा के मांट इलाके में आयोजित की जाएगी। ध्यान हो कि दिल्ली के पास यूपी में दादरी बिलाहदा गांव में भीड़ ने एक वायुसेना कर्मी के 50 वर्षीय पिता की पीट-पीटकर इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि ये अफ़वाह थी कि उसने और उसके परिवार ने गौमांस खाया और घर में रखा था। यह घटना दिल्‍ली से सटे उत्‍तर प्रदेश के दादरी में हुई, जहां मोहम्‍मद अखलाक और उसके बेटे को गांववाले घर से बाहर घसीटकर लाए और उन्‍हें ईंटों से जमकर पीटा। इस घटना में अखलाक की मौत हो गई, जबकि उसका बेटा गंभीर हालत में अस्‍पताल में भर्ती हैं। जब पुलिस घटनास्‍थल पर पहुंची, तब भी भीड़ उन दोनों को पीट रही थी। इस मामले में पुलिस ने देर रात छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अखलाक के परिवारवालों का कहना है कि उन्‍होंने फ्रीज पर में केवल मटन रखा हुआ था। पुलिस ने मीट को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि यह परिवार पिछले 35 सालों से इस गांव में रह रहा था। वह अफवाह के बारे में जांच कर रही है। एक वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने एस किरण ने कहा था कि हमने पाया है कि लोगों ने उन्‍हें इसलिए पीटा कि उन्‍होंने गाय का मांस खाया था।