जीवित महिला को मुर्दा दिखाकर जालसाजों ने हड़प ली पूरी जमीन, नहीं हो रही सुनवाई

mainpuri-police
जीवित महिला को मुर्दा दिखाकर जालसाजों ने हड़प ली पूरी जमीन, नहीं हो रही सुनवाई

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां के कुरावली तहसील के गांव नगला ऊसर में भू-माफियाओं ने एक जीवित महिला को मृत दिखाकर उसकी जमीन हड़प ली। पीड़ित महिला अब इंसाफ के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रही है। कई दिनों तक आला-अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर लगाने के बाद पीड़ित महिला की सुनवाई हुई और लेखपाल को सस्पेंड कर मामले की जांच शुरू हुई।

Mainpuri Women Declared Dead Alive By Fraud :

दरअसल, गांव के ही कुछ दबंग लोगों ने कथित तौर पर लेखपाल से मिलकर तहसील के अभिलेखों में महिला को मृत दिखाकर ये पूरा खेल रच डाला और अभिलेखों में खुद को मृत महिला का वारिस बताकर जमीन अपने नाम कर ली।

इतना सब कुछ होने के बाद भी महिला को धोखाधड़ी की जानकारी नहीं हुई। जब जालसाजों ने जमीन बेचने की पहल की तब जाकर महिला को इस धोखाधड़ी की जानकारी हुई। हालांकि कुरावली तहसील के एसडीएम अनूप कुमार ने महिला को मृत दर्शाने वाली रिपोर्ट लगाने वाले लेखपाल विनोद भारती को सस्पेंड कर दिया है।

ये है पूरा मामला

नगला ऊसर गांव की रहने वाली महिला कैलादेवी को मृत दिखाकर जालसाजों ने जमीन अपने नाम करा ली। काफी समय से महिला कैलादेवी खुद को जीवित साबित करने के लिए अधिकारियों के चक्कर काट रही हैं लेकिन तहसील के अभिलेखों में अभी भी कैलादेवी मुर्दा हैं। कैलादेवी ने ये 14 बीघा जमीन साल 2009 में खरीदी थी, तब से वह खेती करती आ रही हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले से एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां के कुरावली तहसील के गांव नगला ऊसर में भू-माफियाओं ने एक जीवित महिला को मृत दिखाकर उसकी जमीन हड़प ली। पीड़ित महिला अब इंसाफ के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रही है। कई दिनों तक आला-अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर लगाने के बाद पीड़ित महिला की सुनवाई हुई और लेखपाल को सस्पेंड कर मामले की जांच शुरू हुई। दरअसल, गांव के ही कुछ दबंग लोगों ने कथित तौर पर लेखपाल से मिलकर तहसील के अभिलेखों में महिला को मृत दिखाकर ये पूरा खेल रच डाला और अभिलेखों में खुद को मृत महिला का वारिस बताकर जमीन अपने नाम कर ली। इतना सब कुछ होने के बाद भी महिला को धोखाधड़ी की जानकारी नहीं हुई। जब जालसाजों ने जमीन बेचने की पहल की तब जाकर महिला को इस धोखाधड़ी की जानकारी हुई। हालांकि कुरावली तहसील के एसडीएम अनूप कुमार ने महिला को मृत दर्शाने वाली रिपोर्ट लगाने वाले लेखपाल विनोद भारती को सस्पेंड कर दिया है।

ये है पूरा मामला

नगला ऊसर गांव की रहने वाली महिला कैलादेवी को मृत दिखाकर जालसाजों ने जमीन अपने नाम करा ली। काफी समय से महिला कैलादेवी खुद को जीवित साबित करने के लिए अधिकारियों के चक्कर काट रही हैं लेकिन तहसील के अभिलेखों में अभी भी कैलादेवी मुर्दा हैं। कैलादेवी ने ये 14 बीघा जमीन साल 2009 में खरीदी थी, तब से वह खेती करती आ रही हैं।