1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Major accident in Ladakh : सेना का वाहन फिसलकर श्योक नदी में गिरा,7 जवान शहीद, 19 की हालत नाजुक

Major accident in Ladakh : सेना का वाहन फिसलकर श्योक नदी में गिरा,7 जवान शहीद, 19 की हालत नाजुक

Major accident in Ladakh :  लद्दाख में शुक्रवार को 26 जवानों से भरी बस श्योक नदी में फिसल कर गिर गई है। इस हादसे में सेना के सात जवानों की मौत हो गई है और 19 जवान घायल बताए जा रहे हैं। हालांकि हादसे के तुरंत बाद जवानों का रेस्क्यू कर लिया गया था। इसके उन्हें तुरंत अस्पताल में एडमिट भी करवाया गया, लेकिन हादसे में सात जवानों की मौत हो गई और कई को गहरी चोटें भी आई हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Major accident in Ladakh :  लद्दाख (Ladakh) में शुक्रवार को 26 जवानों से भरी बस श्योक नदी (Shyonk River) में फिसल कर गिर गई है। इस हादसे में सेना के सात जवानों की मौत हो गई है और 19 जवान घायल बताए जा रहे हैं। हालांकि हादसे के तुरंत बाद जवानों का रेस्क्यू कर लिया गया था। इसके उन्हें तुरंत अस्पताल में एडमिट भी करवाया गया, लेकिन हादसे में सात जवानों की मौत हो गई और कई को गहरी चोटें भी आई हैं।

पढ़ें :- Forbes Billionaires Index : गौतम अडानी एक हफ्ते में नंबर दो से 16वें पर पहुंचे, हिंडनबर्ग रिपोर्ट की सुनामी जारी

बता दें कि ये हादसा थोइस से लगभग 25 किमी दूर हुआ है। जहां सेना की बस श्योक नदी (Shyonk River)  में करीब 50-60 फीट गहराई में गिर गई। जिसमें सेना के सभी जवान घायल हो गए। सभी जवानों को परतापुर के 403 फील्ड अस्पताल पहुंचाया गया था। लेह से सर्जिकल टीमों को परतापुर भेजा गया है। हालांकि इनमें से सात जवानों को मृतक घोषित किया जा चुका है।

सेना का आधिकारिक बयान का है इंतजार

गंभीर रूप से घायल जवानों की मदद के लिए एयर फोर्स से भी संपर्क साधा गया है। उन्हें इलाज के लिए वेस्टर्न कमांड (Western Command) भेजा जा सकता है। सेना की बस किन कारणों से सड़क से फिसलकर नदी में गिरी, अभी तक ये स्पष्ट नहीं हो पाया है। इस घटना को लेकर सेना की तरफ से भी आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है, लेकिन शुरुआती जानकारी के मुताबिक, जवानों की बस ट्रांजिट कैंप से सब सेक्टर हनीफ के अग्रिम स्थान की ओर जा रही थी, उसी दौरान ये हादसा हुआ है। भारतीय सेना (Indian Army) ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के प्रयास चल रहे हैं कि घायलों को सर्वोत्तम इलाज दिया जाए। अधिक गंभीर घायलों को हाई सेंटर रेफर करने के लिए वायु सेना की भी मदद ली जा रही है। सेना के सूत्रों ने बताया कि भारतीय वायुसेना से अधिक गंभीर लोगों को पश्चिमी कमान में स्थानांतरित करने के लिए हवाई प्रयास किए जा रहे हैं।

 

पढ़ें :- Budget 2023: सीएम योगी बोले-बजट से UP की जनता लाभान्वित होने जा रही

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...