1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Breaking News-मणिपुर में उग्रवादियों का बड़ा हमला : असम राइफल्स के सीओ, उनके बेटे और पत्नी समेत 6 लोग शहीद

Breaking News-मणिपुर में उग्रवादियों का बड़ा हमला : असम राइफल्स के सीओ, उनके बेटे और पत्नी समेत 6 लोग शहीद

मणिपुर में असम राइफल के कमांडिंग अफ़सर और उनके परिवार पर उग्रवादियों ने घात लगाकर कर हमला किया है। यह हमला शनिवार सुबह 10 बजे शेखन-बेहिआंग पुलिस स्टेशन के इलाक़े में हुआ है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 46 असम रायफल के कमॉडिंग अफ़सर अपने परिवार और QRT के साथ जा रहे थे, तभी उग्रवादियों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया। सूत्रों के मुताबिक़ इस हमले कमॉडिंग अफसर की पत्नी और एक बच्चा और क्यूआरटी में तैनात 3 जवानों की भी मौत की खबर है। हालांकि सेना की तरफ़ से फ़िलहाल इस बारे में आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। मणिपुर (Manipur) में असम राइफल (Assam Rifles) के कमांडिंग अफ़सर और उनके परिवार पर उग्रवादियों ने घात लगाकर कर हमला किया है। यह हमला शनिवार सुबह 10 बजे शेखन-बेहिआंग पुलिस स्टेशन के इलाक़े में हुआ है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, 46 असम रायफल (Assam Rifles)  के कमॉडिंग अफ़सर अपने परिवार और QRT के साथ जा रहे थे, तभी उग्रवादियों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया। सूत्रों के मुताबिक़ इस हमले कमॉडिंग अफसर की पत्नी और एक बच्चा और क्यूआरटी (QRT) में तैनात 3 जवानों की भी मौत की खबर है। हालांकि सेना की तरफ़ से फ़िलहाल इस बारे में आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

पढ़ें :- मणिपुर के हिंगोरानी क्षेत्र में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को किया ढेर, मुठभेड़ जारी

मणिपुर (Manipur) के चूड़ाचांदपुर जिले में असम राइफल्स (Assam Rifles) की 46 वीं बटालियन का काफिला गुजर रहा था। इस काफिले को 46 AR के कमांडिंग अफसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी लीड कर रहे थे। उनके साथ उनकी पत्नी और बेटा भी गाड़ी में सवार थे। तभी आतंकियों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया। इस हमले में सीओ विप्लव त्रिपाठी, उनके बेटे, पत्नी और 3 जवान शहीद हो गए। घटना के बाद सुरक्षाबल इलाके में लगातार सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं।

आतंकियों को बख्शा नहीं जाएगा : राजनाथ सिंह

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने असम राइफल्स पर हुए हमले पर ट्वीट कर कहा कि मणिपुर के चूड़ाचांदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला हुआ है। यह बेहद दुखदाई और निंदा करने लायक है। मेरी संवेदना शहीद जवानों के परिवारों के साथ है। हमलावरों को बख्शा नहीं जाएगा।

मिली जानकारी के अनुसार सेना की टुकड़ी पर घात लगाकर बैठे आतंकियों ने हमला किया है। मणिपुर (Manipur)के चुराचांदपुर जिले के सिंघाट में यह हमला हुआ। इसके बाद सेना का ऑपरेशन अभी जारी है। इस हमले के पीछे मणिपुर की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (People’s Liberation Army of Manipur) का हाथ बताया जा रहा है। मणिपुर की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी का गठन 1978 में किया गया था। इसे भारत सरकार ने आतंकी संगठन घोषित कर रखा है। मणिपुर में यह संगठन धोखे से भारतीय सुरक्षाबलों पर पहले भी हमले करता रहा है। इसका संगठन का गठन बिश्वेसर सिंह ने किया था। यह आतंकी संगठन स्वतंत्र मणिपुर की मांग करता रहा है।

पढ़ें :- जलवायु कार्यकर्ता लिसिप्रिया के पिता गिरफ्तार, पुलिस ने घोषित कर रखा था एक लाख का इनाम
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...