शैलजा हत्याकांड : हत्यारे ने 60 दिनों में किए थे 1300 फोन कॉल

नई ​दिल्ली। ​दिल्ली के कैंट इलाके में बीते शनिवार को हुई मेंजर अमित की पत्नी शैलजा की हत्या के मामले में दबोचे गए साथी मेजर निखिल हाण्डा को आज दिल्ली के नारायणा थाने के की पुलिस कोर्ट में पेश करेगी। पुलिस ने शनिवार को आरोपी को मेरठ से गिरफ्तार किया था। बाद में जांच पड़ताल में पता चला कि मेजर निखिल हाण्डा ने शैलजा को बीते दो माह में करीब 3000 फोन कॉल किए थे। पुलिस के मुताबिक निखिल फोन करके शैलजा पर शादी का दबाव बना रहा था।

Major Nikhil Honda Make 3000 Phone Call To Shailja In 60 Days :

मृतका के ​पति अमित ने पुलिस को बताया कि निखिल और शैलजा की दोस्ती थी,जिसके चलते निखिल शैलजा को परेशान कर रहा था। अमित से बात करने के बाद पुलिस ने निखिल की कॉल डिटेल निकाली। पुख्ता सबूत मिलने के बाद पुलिस ने मेजर निखिल की तलाश शुरू की। पुलिस सबसे पहले निखिल के दक्षिणी दिल्ली के साकेत स्थित घर पहुंची, लेकिन वो वहां से फरार हो चुका था। तब पुलिस ने उसके मोबाइल फोन पर संपर्क किया, लेकिन वो बंद मिला। तब पुलिस ने मोबाइल को सर्विलांस पर लगाया तो आरोपी की लोकेशन पता चल गई और उसे मेरठ से दबोच लिया गया।

बता दें कि मेजर अमित से पूछताछ के बाद पुलिस की एक टीम आर्मी के बेस अस्पताल पहुंची। पुलिस ने यहां लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो निखिल शैलजा के साथ दिखाई दे गया। निखिल के पास सिल्वर रंग की होंडा सिटी कार थी, जिसमें शैलजा भी थी। जांच में अस्पताल से पता चला कि सीसीटीवी में दिखाई दे रहा व्यक्ति निखिल राय हांडा है और उनका बेटा अस्पताल में भर्ती है। सीसीटीवी फुटेज, कॉल डिटेल और मेजर अमित के बयान से मिली जानकारी के बाद निखिल के खिलाफ पुलिस को पुख्ता सबूत मिल गए, तब पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर हत्याकांड से पर्दा उठा लिया।

नई ​दिल्ली। ​दिल्ली के कैंट इलाके में बीते शनिवार को हुई मेंजर अमित की पत्नी शैलजा की हत्या के मामले में दबोचे गए साथी मेजर निखिल हाण्डा को आज दिल्ली के नारायणा थाने के की पुलिस कोर्ट में पेश करेगी। पुलिस ने शनिवार को आरोपी को मेरठ से गिरफ्तार किया था। बाद में जांच पड़ताल में पता चला कि मेजर निखिल हाण्डा ने शैलजा को बीते दो माह में करीब 3000 फोन कॉल किए थे। पुलिस के मुताबिक निखिल फोन करके शैलजा पर शादी का दबाव बना रहा था। मृतका के ​पति अमित ने पुलिस को बताया कि निखिल और शैलजा की दोस्ती थी,जिसके चलते निखिल शैलजा को परेशान कर रहा था। अमित से बात करने के बाद पुलिस ने निखिल की कॉल डिटेल निकाली। पुख्ता सबूत मिलने के बाद पुलिस ने मेजर निखिल की तलाश शुरू की। पुलिस सबसे पहले निखिल के दक्षिणी दिल्ली के साकेत स्थित घर पहुंची, लेकिन वो वहां से फरार हो चुका था। तब पुलिस ने उसके मोबाइल फोन पर संपर्क किया, लेकिन वो बंद मिला। तब पुलिस ने मोबाइल को सर्विलांस पर लगाया तो आरोपी की लोकेशन पता चल गई और उसे मेरठ से दबोच लिया गया। बता दें कि मेजर अमित से पूछताछ के बाद पुलिस की एक टीम आर्मी के बेस अस्पताल पहुंची। पुलिस ने यहां लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो निखिल शैलजा के साथ दिखाई दे गया। निखिल के पास सिल्वर रंग की होंडा सिटी कार थी, जिसमें शैलजा भी थी। जांच में अस्पताल से पता चला कि सीसीटीवी में दिखाई दे रहा व्यक्ति निखिल राय हांडा है और उनका बेटा अस्पताल में भर्ती है। सीसीटीवी फुटेज, कॉल डिटेल और मेजर अमित के बयान से मिली जानकारी के बाद निखिल के खिलाफ पुलिस को पुख्ता सबूत मिल गए, तब पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर हत्याकांड से पर्दा उठा लिया।