1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Papmochani Ekadashi 2022 : पापमोचनी एकादशी पर भगवान को ऐसे करें खुश

Papmochani Ekadashi 2022 : पापमोचनी एकादशी पर भगवान को ऐसे करें खुश

पापमोचनी एकादशी पर पूजा करने पर सारी मनोकामना पुरी होती है। कहा जाता है कि यह चैत्र मास के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को पापमोचनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। एकादशी पर भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। और इस वर्त को करने पर सभी प्रकार के पापो से मुक्ती मिलती है।

By प्रिया सिंह 
Updated Date

Papmochani Ekadashi 2022 : पापमोचनी एकादशी पर पूजा करने पर सारी मनोकामना पुरी होती है। कहा जाता है कि यह चैत्र मास के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को पापमोचनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। एकादशी पर भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। और इस वर्त को करने पर सभी प्रकार के पापो से मुक्ती मिलती है।

पढ़ें :- Tulsi Poojan : इस दिन तुलसी में जल देने की रोक है, नियमों के पालन करने से घर में रहता है मां लक्ष्मी का वास

मुहूर्त- 

27 मार्च को 06:04 पी-एम पर एकादशी तिथि प्रारम्भ होगा।

और 28 मार्च को 04:15 पी एम  पर एकादशी तिथि समाप्त होगा।

पारणा टाइम-

पढ़ें :- Mohini Ekadashi 2022: मोहिनी एकादशी पर करें भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की पूजा, होती है मनोकामना पूर्ण

29 मार्च – 06:15 ए एम से 08:43 ए एम

पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय – 02:38 पी एम

पूजा- विधि-  

सुबह जल्दी उठकर स्नान कर के तैयार हो जाएं।

घर में मौजूद मंदिर पर दीप जलाएं।

पढ़ें :- Ekadashi Tips:एकादशी के दिन इस अन्न को खाना वर्जित है, भगवान विष्णु का पंचामृत से करें अभिषेक

भगवान विष्णु का गंगा जल से अभिषेक करें।

अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।

भगवान की आरती करें।

इस पावन दिन भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी की पूजा भी करें।

इस दिन भगवान का अधिक से अधिक ध्यान करें।

भगवान विष्णु को पुष्प और तुलसी दल अर्पित करें।

पढ़ें :- Vaikuntha Ekadashi 2022: इस दिन करें वैकुंठ एकादशी की पूजा, भूलकर भी व्रत में ये काम न करें

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...