माल्या की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, लंदन पहुंची सीबीआई और ईडी की टीम

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई तथा प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों की एक टीम लंदन पहुंची है, जो उद्योगपति विजय माल्या के प्रत्यर्पण के बारे में स्थानीय अधिकारियों से विचार विमर्श करेगी। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि सीबीआई के अतिरिक्त निदेशक राकेश अस्थाना की अगुवाई में यह चार सदस्यीय टीम ब्रिटेन के अधिकारियों को माल्या के खिलाफ ऋण भुगतान में असफल रहने के मामलों की बारीकी से जानकारी देगी। इस टीम में प्रवर्तन निदेशालय के दो वरिष्ठ अधिकारी भी हैं।




माल्या के प्रत्यर्पण का मामला इस समय ब्रिटेन की एक अदालत में है, जहां न तो सीबीआई और न ही प्रवर्तन निदेशालय सीधे कोई पक्ष है। एक अधिकारी ने कहा कि भारतीय एजेंसियां वहां अदालत में भगोड़ों की ओर से दायर याचिकाओं के विरोध में ब्रितानी अभियोजकों की मदद करती है। भारत से टीम लंदन भेजने का उद्देश्य यही है कि माल्या के प्रत्यर्पण के लिए वहां की अदालत में मजबूत मामला बनाया जा सके।उल्लेखनीय है कि 61 वर्ष के माल्या को भारत के प्रत्यर्पण आग्रह पर पिछले महीने ब्रिटेन के अधिकारियों ने पकड़ा था।




हालांकि, लंदन की एक अदालत ने कुछ ही घंटे में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया था। इस मामले में अब 17 मई को सुनवाई होनी है। यह गिरफ्तारी आईडीबीआई बैंक में 900 करोड़ रपए के कर्ज का भुगतान नहीं करने से जुड़े मामले में हुई। इस मामले की जांच सीबीआई कर रही हैं।