प्रियंका को देरी से छोड़े जाने पर SC ने लगाई बंगाल सरकार को फटकार

priyanka sharma
प्रियंका को देरी से छोड़े जाने पर SC ने लगाई बंगाल सरकार को फटकार, कोर्ट ने पूछा- जेल मैन्यूअल हमारे आदेश से बड़ा है?

नई दिल्ली। मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी का मीम सोशल मीडिया पर शेयर करने वालीं भारतीय जनता पार्टी के यूथ विंग की संयोजक प्रियंका शर्मा आखिरकार जेल से छूट गईं। सुप्रीम कोर्ट ने प्रियंका शर्मा की रिहाई में देरी पर पश्चिम बंगाल सरकार फटकार लगाई है। पश्चिम बंगाल सरकार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि प्रियंका शर्मा को आज सुबह 9:40 पर रिहा किया गया। सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने पूछा, ‘उसे तुरंत रिहा क्यों नहीं किया गया?’

Mamata Banerjee Meme Case Supreme Court Slams West Bengal For Delaying Release Of Bjp Priyanka Sharma :

मंगलवार को रिहाई के आदेश के बावजूद बुधवार को प्रियंका को छोड़ने पर इस मामले पर सुनवाई कर रही सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने बंगाल सरकार से पूछा कि प्रियंका को तुरंत क्यों नहीं छोड़ा गया? इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि यह सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का मामला बनता है। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को तत्काल रिहाई के आदेश देते हुए पहले माफीनामा देने की शर्त रखी थी, लेकिन बाद में प्रियंका के वकील एनके कौल को बुलाकर अपने आदेश में बदलाव करते हुए माफी की शर्त को रद्द कर दिया था।

प्रियंका शर्मा की ओर से एनके कौल ने कोर्ट में कहा कि रिहाई से पहले प्रियंका शर्मा से लिखित माफीनामा पर हस्ताक्षर करने को कहा गया कि वह भविष्य में फिर कभी ऐसे पोस्ट नहीं करेगी। कोर्ट से निकलने के बाद उन्होंने मीडिया को बताया कि प्रियंका को बुधवार सुबह 09:40 से 10:00 बजे के बीच छोड़ा गया। यह सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना नहीं तो और क्या है कि 24 घंटे के अंदर आदेश का पालन नहीं किया गया।

इधर, प्रियंका की मां ने कहा कि उनकी बेटी अबतक उनके पास नहीं पहुंची हैं। वह अलीपुर सुधार गृह में है। वह उन्हें लेने के लिए जा रही हैं। मालूम हो कि प्रियंका ने ट्विटर पर ममता बनर्जी की एक फोटोशॉप्ड तस्वीर शेयर की थी। यह फोटो असल में अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के मेट गाला लुक को फोटोशॉप करके बनाई गई थी। शुक्रवार को पुलिस के रिपोर्ट दर्ज करने के बाद प्रियंका को गिरफ्तार कर लिया गया था।

नई दिल्ली। मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी का मीम सोशल मीडिया पर शेयर करने वालीं भारतीय जनता पार्टी के यूथ विंग की संयोजक प्रियंका शर्मा आखिरकार जेल से छूट गईं। सुप्रीम कोर्ट ने प्रियंका शर्मा की रिहाई में देरी पर पश्चिम बंगाल सरकार फटकार लगाई है। पश्चिम बंगाल सरकार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि प्रियंका शर्मा को आज सुबह 9:40 पर रिहा किया गया। सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने पूछा, 'उसे तुरंत रिहा क्यों नहीं किया गया?' मंगलवार को रिहाई के आदेश के बावजूद बुधवार को प्रियंका को छोड़ने पर इस मामले पर सुनवाई कर रही सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने बंगाल सरकार से पूछा कि प्रियंका को तुरंत क्यों नहीं छोड़ा गया? इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि यह सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का मामला बनता है। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को तत्काल रिहाई के आदेश देते हुए पहले माफीनामा देने की शर्त रखी थी, लेकिन बाद में प्रियंका के वकील एनके कौल को बुलाकर अपने आदेश में बदलाव करते हुए माफी की शर्त को रद्द कर दिया था। प्रियंका शर्मा की ओर से एनके कौल ने कोर्ट में कहा कि रिहाई से पहले प्रियंका शर्मा से लिखित माफीनामा पर हस्ताक्षर करने को कहा गया कि वह भविष्य में फिर कभी ऐसे पोस्ट नहीं करेगी। कोर्ट से निकलने के बाद उन्होंने मीडिया को बताया कि प्रियंका को बुधवार सुबह 09:40 से 10:00 बजे के बीच छोड़ा गया। यह सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना नहीं तो और क्या है कि 24 घंटे के अंदर आदेश का पालन नहीं किया गया। इधर, प्रियंका की मां ने कहा कि उनकी बेटी अबतक उनके पास नहीं पहुंची हैं। वह अलीपुर सुधार गृह में है। वह उन्हें लेने के लिए जा रही हैं। मालूम हो कि प्रियंका ने ट्विटर पर ममता बनर्जी की एक फोटोशॉप्ड तस्वीर शेयर की थी। यह फोटो असल में अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के मेट गाला लुक को फोटोशॉप करके बनाई गई थी। शुक्रवार को पुलिस के रिपोर्ट दर्ज करने के बाद प्रियंका को गिरफ्तार कर लिया गया था।