ममता बनर्जी ने GST को बताया ग्रेट सेल्फिश टैक्स, आठ नवंबर को मनाएंगी काला दिवस

mamta-banrji

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को एक नया नाम दे डाला। ममता ने जीएसटी को ‘ग्रेट सेल्फिश टैक्स’ (महा स्वार्थी कर) बताया है। ममता ने ट्वीट करते हुए लिखा, ग्रेट सेल्फिश टैक्स (जीएसटी) लोगों की नौकरियां छीनने वाला है। व्यापार को नुकसान पहुंचाने वाला है। केंद्र सरकार जीएसटी से निपटने में पूरी तरह नाकामयाब रही।

ममता बनर्जी ने सोशल मीडिया यूजर्स से 8 नवंबर को नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुये अपनी प्रोफाइल पिक्चर को बदलकर काला करने की अपील की है। ममता ने एक काली तस्वीर शेयर की है और साथ ही ट्विटर पर अपनी फोटो की जगह काली डीपी लगा ली है। तृणमूल कांग्रेस ने इससे पहले घोषणा की थी कि वह नोटबंदी के खिलाफ विरोध स्वरूप पश्चिम बंगाल में आठ नवंबर को ‘काला दिवस’ मनाएगी।

{ यह भी पढ़ें:- अलगाववादियों पर ऐक्शन तेज, यासीन मलिक हिरासत में, मीरवाइज नजरबंद }


बता दें कि ममता बनर्जी लगातार भारतीय जनता पार्टी पर हमले कर रही हैं। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने कहा था कि वह अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक नहीं कराएंगी। उन्होंने कहा था, ‘मैं अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक नहीं कराऊंगी, अगर वो लोग मेरा मोबाइल नंबर बंद करना चाहते हैं तो कर दें, लेकिन मैं आधार को लिंक नहीं कराऊंगी।’

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को एक नया नाम दे डाला। ममता ने जीएसटी को ‘ग्रेट सेल्फिश टैक्स’ (महा स्वार्थी कर) बताया है। ममता ने ट्वीट करते हुए लिखा, ग्रेट सेल्फिश टैक्स (जीएसटी) लोगों की नौकरियां छीनने वाला है। व्यापार को नुकसान पहुंचाने वाला है। केंद्र सरकार जीएसटी से निपटने में पूरी तरह नाकामयाब रही। ममता बनर्जी ने सोशल मीडिया यूजर्स से 8 नवंबर को नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते…
Loading...