1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Kolkata Municipal Corporation : ममता बनर्जी ने सौंपी फिरहाद हाकिम को कोलकाता नगर निगम की कमान

Kolkata Municipal Corporation : ममता बनर्जी ने सौंपी फिरहाद हाकिम को कोलकाता नगर निगम की कमान

Kolkata Municipal Corporation : पश्चिम बंगाल (West Bengal ) में हुए कोलकाता नगर निगम (Kolkata Municipal Corporation) के चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के चली आधी में समूचा विपक्ष धराशायी हो गया है। इस जीत के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने टीएमसी नेता (TMC leader)  फिरहाद हाकिम (Firhad Hakim) को निगम का मेयर बनाया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Kolkata Municipal Corporation : पश्चिम बंगाल (West Bengal ) में हुए कोलकाता नगर निगम (Kolkata Municipal Corporation) के चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के चली आधी में समूचा विपक्ष धराशायी हो गया है। इस जीत के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) ने टीएमसी नेता (TMC leader)  फिरहाद हाकिम (Firhad Hakim) को निगम का मेयर बनाया है। सत्तारूढ़ टीएमसी ने 19 दिसंबर को हुए कोलकाता नगर निगम चुनावों में 144 में से 134 वार्डों में जीत हासिल की थी। भारतीय जनता पार्टी तीन सीटों के साथ दूसरे स्थान पर रही। कांग्रेस और वामदलों ने दो-दो वार्ड जीते।

पढ़ें :- सुप्रीम कोर्ट से ममता को बड़ा झटका, कोयला तस्करी मामले में उनके भतीजे से ED की पूछताछ को मंजूरी

पश्चिम बंगाल (West Bengal  की सीएम ममता बनर्जी (Mamta Banerjee)  ने गुरुवार को निर्वाचित पार्षदों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने राज्य चुनाव आयोग और पुलिस ने शांतिपूर्ण चुनाव कराने में अच्छा काम किया है। कोलकाता कॉर्प के रिपोर्ट कार्ड की हर 6 महीने बाद समीक्षा की जाएगी। अगर कोई काम नहीं कर रहा है, तो सरकार उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी।

निर्वाचित पार्षदों के साथ बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बीजेपी और सीपीएम को बात ज्यादा करने और काम कम करने की आदत है। उन्होंने कहा कि सभी होर्डिंग्स को हटाने की जरूरत है और शहर साफ-सुथरा होना चाहिए। यूनेस्को से मान्यता मिलने के बाद दुर्गा पूजा शुरू होने से 10 दिन पहले समारोह शुरू हो जाएगा।

जानें कौन हैं फिरहाद हकीम?

62 वर्षीय फिरहाद हकीम पश्चिम बंगाल सरकार के परिवहन और आवास मंत्री हैं। वह 10 साल तक शहरी विकास और नगरपालिका मामलों के प्रभारी मंत्री रहे। इसके अलावा वह चुनाव से पहले कोलकाता के मेयर के रूप में भी काम कर रहे थे, जो भारत में तीसरा मेगासिटी है। अब आधिकारिक रूप से उनके नाम की घोषणा हो चुकी है।

पढ़ें :- CM ममता बनर्जी का बड़ा बयान कहा- सरकार के स्वास्थ्य साथी स्वास्थ्य कार्ड को स्वीकार नही करने वाले अस्पतालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

राज्य भर में 100 से अधिक अन्य नगर निकायों के चुनाव भी एक साल से अधिक समय से लंबित हैं। 6 दिसंबर को राज्य चुनाव आयोग ने कलकत्ता उच्च न्यायालय को बताया कि शेष 22 जिलों में नगरपालिका चुनाव मई 2022 तक छह से आठ चरणों में होंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...