अमित शाह पर ममता बनर्जी ने किया पलटवार ‘मैंने कभी नहीं कहा कोरोना एक्सप्रेस’

Untitled-6-1

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कोरोना एक्सप्रेस वाले बयान पर आखिरकार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुप्पी तोड़ दी है. दरअसल अमित शाह ने हाल ही में BJP की वर्चुअल रैली के दौरान ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा था कि मजदूरों को लेकर ममता बनर्जी का ‘कोरोना एक्सप्रेस’ कहना ही आपको राज्य की सत्ता से बाहर करेगा.

Mamta Banerjee Hit Back At Amit Shah I Never Said Corona Express :

अमित शाह के इस बयान पर पलटवार करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, मैंने कभी भी श्रमिक स्पेशल ट्रेन को कोरोना एक्सप्रेस नहीं कहा. मैंने वही कहा जो लोग कह रहे हैं. आप मेरा असली बयान सुन सकते हैं. इसी के साथ ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर लॉकडाउन की घोषणा के पहले केंद्र सरकार श्रमिक ट्रेनें भेजती तो लोगों को इतनी मुसीबतों का सामना नहीं करना पड़ता.

मालूम हो कि कोरोनावायरस महामारी के बाद संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लगाया गया था. हालांकि लॉकडाउन के दौरान यातायात के तमाम साधन बंद होने के बाद कई प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने गृह राज्यों की ओर चल दिए थे. इसके बाद केंद्र सरकार ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई थीं. हालांकि ममता बनर्जी ने राज्य में आए अम्फान तूफान के बाद अधिकारियों की व्यस्तता को कारण बताते हुए केंद्र से कुछ दिनों तक श्रमिक स्पेशल ट्रेनें न भेजने की अपील की थी.

इसके बाद से वह बीजेपी के निशाने पर आ गई थीं. हालांकि पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच कोरोना को लेकर अनबन शुरुआत से ही रही. पहले राज्य पर कोरोना मामलों की सही से पड़ताल न करने और फिर बाद में केंद्र द्वारा गठित स्पेशल टीमों को सहयोग न करने के आरोप लगते रहे. वहीं ममता बनर्जी भी कोरोनावायरस मामले को लेकर राज्यों के अधिकारों में केंद्र के हस्तक्षेप का आरोप लगा रही थीं.

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कोरोना एक्सप्रेस वाले बयान पर आखिरकार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुप्पी तोड़ दी है. दरअसल अमित शाह ने हाल ही में BJP की वर्चुअल रैली के दौरान ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा था कि मजदूरों को लेकर ममता बनर्जी का ‘कोरोना एक्सप्रेस’ कहना ही आपको राज्य की सत्ता से बाहर करेगा. अमित शाह के इस बयान पर पलटवार करते हुए ममता बनर्जी ने कहा, मैंने कभी भी श्रमिक स्पेशल ट्रेन को कोरोना एक्सप्रेस नहीं कहा. मैंने वही कहा जो लोग कह रहे हैं. आप मेरा असली बयान सुन सकते हैं. इसी के साथ ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर लॉकडाउन की घोषणा के पहले केंद्र सरकार श्रमिक ट्रेनें भेजती तो लोगों को इतनी मुसीबतों का सामना नहीं करना पड़ता. मालूम हो कि कोरोनावायरस महामारी के बाद संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लगाया गया था. हालांकि लॉकडाउन के दौरान यातायात के तमाम साधन बंद होने के बाद कई प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने गृह राज्यों की ओर चल दिए थे. इसके बाद केंद्र सरकार ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई थीं. हालांकि ममता बनर्जी ने राज्य में आए अम्फान तूफान के बाद अधिकारियों की व्यस्तता को कारण बताते हुए केंद्र से कुछ दिनों तक श्रमिक स्पेशल ट्रेनें न भेजने की अपील की थी. इसके बाद से वह बीजेपी के निशाने पर आ गई थीं. हालांकि पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच कोरोना को लेकर अनबन शुरुआत से ही रही. पहले राज्य पर कोरोना मामलों की सही से पड़ताल न करने और फिर बाद में केंद्र द्वारा गठित स्पेशल टीमों को सहयोग न करने के आरोप लगते रहे. वहीं ममता बनर्जी भी कोरोनावायरस मामले को लेकर राज्यों के अधिकारों में केंद्र के हस्तक्षेप का आरोप लगा रही थीं.