ममता ने एनआरसी के विरोध में कोलकाता में रैली निकाली

mamata_banerjee
ममता ने एनआरसी के विरोध में कोलकाता में रैली निकाली

कोलकाता। टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने असम में लागू एनआरसी के खिलाफ उत्तरी कोलकाता में गुरुवार को एक रैली निकाली। ममता बनर्जी ने दोपहर तीन बजे के करीब सिंथी मोड़ से शहर के उत्तरी हिस्से की ओर मार्च निकाला। रैली करीब पांच किलोमीटर चलकर श्यामा बाजार में खत्म हुई। रैली में तृणमूल कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ममता ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है। रैली में शामिल तृणमूल कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Mamta Holds Rally In Kolkata To Protest Against Nrc :

ममता ने कहा कि वह एनआरसी से सहमत नहीं हैं। ममता बनर्जी ने भाजपा पर इस कदम के जरिए लोगों को बांटने का प्रयास करने का आरोप लगाया। तृणमूल सुप्रीमो ने केन्द्र सरकार का हमला करते हुए कहा कि लोगों को बांटने की कोशिश करने वाले आग से खेल रहे हैं। ममता ने कहा कि असम में पुलिस और सेना के जरिये जबरन एनआरसी पर लोगों का मुंह बंद कराया गया है। उन्होंने कहा कि यदि बीजेपी बंगाल में एक व्यक्ति को भी एनआरसी के नाम पर छुआ गया तो हम उसे सबक सिखाएंगे। ममता ने कहा कि एनआरसी की अंतिम सूची से 19 लाख लोगों को बाहर रखा गया। इसमें हिंदू, मुस्लिम और बौद्ध शामिल हैं।

कोलकाता। टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने असम में लागू एनआरसी के खिलाफ उत्तरी कोलकाता में गुरुवार को एक रैली निकाली। ममता बनर्जी ने दोपहर तीन बजे के करीब सिंथी मोड़ से शहर के उत्तरी हिस्से की ओर मार्च निकाला। रैली करीब पांच किलोमीटर चलकर श्यामा बाजार में खत्म हुई। रैली में तृणमूल कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ममता ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है। रैली में शामिल तृणमूल कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ममता ने कहा कि वह एनआरसी से सहमत नहीं हैं। ममता बनर्जी ने भाजपा पर इस कदम के जरिए लोगों को बांटने का प्रयास करने का आरोप लगाया। तृणमूल सुप्रीमो ने केन्द्र सरकार का हमला करते हुए कहा कि लोगों को बांटने की कोशिश करने वाले आग से खेल रहे हैं। ममता ने कहा कि असम में पुलिस और सेना के जरिये जबरन एनआरसी पर लोगों का मुंह बंद कराया गया है। उन्होंने कहा कि यदि बीजेपी बंगाल में एक व्यक्ति को भी एनआरसी के नाम पर छुआ गया तो हम उसे सबक सिखाएंगे। ममता ने कहा कि एनआरसी की अंतिम सूची से 19 लाख लोगों को बाहर रखा गया। इसमें हिंदू, मुस्लिम और बौद्ध शामिल हैं।