1. हिन्दी समाचार
  2. ममता ने केन्द्र के निर्देशों का किया विरोध, बंगाल में खुलेंगे सभी बड़े स्टोर्स, नही होगा रात में कर्फ्यू

ममता ने केन्द्र के निर्देशों का किया विरोध, बंगाल में खुलेंगे सभी बड़े स्टोर्स, नही होगा रात में कर्फ्यू

Mamta Opposes The Centres Instructions All Big Stores Will Open In Bengal Curfew Will Not Happen At Night

कोलकाता। कोरोना वायरस की वजह से जारी लॉकडाउन 4 में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐलान किया है कि 21 मई के बाद कन्टेन्मेंट जोन को छोड़कर अन्य सभी जगहों पर बड़े स्टोर्स खोल दिए जाएंगे. यही नही ममता बनर्जी सरकार रात में कर्फ्यू नहीं लगाने का फैसला किया है. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में लॉकडाउन 4 के लिए गाइडलाइंस जारी करते हुए कहा कि आधिकारिक रूप से शाम 7 बजे के बाद कर्फ्यू नहीं लगाया जाएगा. हालांकि उन्होंने लोगों से अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकलने की अपील की है. बता दें केंद्र सरकार ने देशभर में शाम सात बजे से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू लगाने का निर्देश दिया है.

पढ़ें :- Corona Update: भारत में कोरोना के 11 हजार नए मामले, 123 मौतें दर्ज

ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के निर्देशों को जनविरोधी बताते हुए उन्होंने कहा कि वह इन्हें स्वीकार नहीं करना चाहती हैं. ममता बनर्जी ने 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज को बड़ा शून्य बताया. लॉकडाउन 4 के पहले ही दिन पश्चिम बंगाल सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि 21 मई के बाद कन्टेन्मेंट जोन को छोड़कर अन्य सभी जगहों पर बड़े स्टोर्स खोल दिए जाएंगे. साथ ही 27 मई से ऑटोरिक्शा की सेवाएं बहाल कर दी जाएंगी. हालांकि एक ऑटोरिक्शा में 2 लोगों के बैठने की अनुमति होगी.

लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से बंद पड़ी चीजों को राज्य सरकारें अब खोलने लगी हैं. इस संबंध में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि राज्य में अंतर-जिला बस सेवाएं 21 मई से फिर से शुरू हो जाएंगी. सैलून और पॉर्लर के खोलने के बारे में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सैलून और पॉर्लर पूरी तरह से सैनिटाइज किए जाने के बाद ही खोले जाने चाहिए. बंगाल सरकार ने साफ किया कि केंद्र सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी के बावजूद राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाया नहीं जाएगा. नाइट कर्फ्यू के तहत लोगों के शाम 7 बजे के बाद से सुबह 7 बजे तक निकलने पर रोक है. साथ ही राज्य सरकार ने ऑफिस खोलने को लेकर भी ऐलान कर दिया है और ममता बनर्जी ने कहा कि एक दिन के अंतराल पर सरकारी और निजी ऑफिस खुलेंगे.

अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं सभी प्रवासी श्रमिकों से कुछ धैर्य रखने का आग्रह करती हूं. हम हर संभव व्यवस्था कर रहे हैं.’ उन्होंने आगे कहा कि हमने 105 ट्रेनें बुक कर रखी हैं जिसमें 15 ट्रेनें पहले ही राज्य में पहुंच चुकी हैं. हम जल्द ही 120 और ट्रेनों को चलवाने की व्यवस्था करेंगे.

पढ़ें :- दिल्ली में 2.8 तीव्रता का भूकंप

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...