गोरखपुर में पति ने पत्‍नी के बदले लीं 71 भेड़ें और बीवी को कर दिया प्रेमी के हवाले

man
गोरखपुर में पति ने पत्‍नी के बदले लीं 71 भेड़ें और बीवी को कर दिया प्रेमी के हवाले

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक अजीबोगरीब प्रेम कहानी सामने आई है जिसमें भेड़ पर हक की लड़ाई को सुलझाने के लिए पंचायत ने भेड़ के बदले युवक को उसकी पत्नी को प्रेमी के हवाले करने का फैसला सुना दिया। पति ने भी पंचायत का फरमान मान लिया और 71 भेड़ लेकर पत्नी को प्रेमी के हवाले कर दिया। भेड़ के बदले पत्नी को प्रेमी को सौंपने के पंचायत के इस अनोखे फरमान की क्षेत्र में खूब चर्चा है।

Man Accepted The Order Of Panchayat Of Sheeps Insteand Of Wife Gorakhpur :

दोनों के बीच विवाद के बाद बिरादरी की पंचायत बैठी। पंचों ने प्रेमी से महिला को रखने के बारे में सवाल किया, तो उसने हां में जवाब दे दिया। इसके बदले पंचायत ने उसे अपनी आधी भेड़ महिला के पति को देने के लिए कहा। इस पर दोनों पक्ष राजी हो गए। प्रेमी के पास कुल 142 भेड़ों में से 71 भेड़ महिला के पति को दे दिया। इसके बदले पंचायत ने महिला को प्रेमी के साथ जाने की अनुमति दे दी। उमेश और महिला ने भी एक साथ रहने और पंचायत की बात को स्‍वीकार किया है।

इसी बीच मामले ने तब फिर तूल पकड़ लिया, जब प्रेमी के पिता ने पंचायत के फैसले पर आपत्ति जताते हुए भेड़ों का झुंड वापस मांगा। यहां तक कि उन्होंने पुलिस स्टेशन में एक लिखित शिकायत दर्ज की और बिना शर्त अपने भेड़ें वापस मांगी।

यहां तक कि प्रेमी के पिता ने महिला के पति पर उसकी भेड़ें चुराने का आरोप भी लगाया। हालांकि, महिला ने अपना फैसला नहीं बदला। अब यह मामला पुलिस में है। खोराबार की एसएचओ अंबिका भारद्वाज ने कहा कि, हम शिकायतकर्ता पक्ष के संपर्क में हैं और पुलिस सभी पक्षों से बात करके मामले को सुलझाने का प्रयास कर रही है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में एक अजीबोगरीब प्रेम कहानी सामने आई है जिसमें भेड़ पर हक की लड़ाई को सुलझाने के लिए पंचायत ने भेड़ के बदले युवक को उसकी पत्नी को प्रेमी के हवाले करने का फैसला सुना दिया। पति ने भी पंचायत का फरमान मान लिया और 71 भेड़ लेकर पत्नी को प्रेमी के हवाले कर दिया। भेड़ के बदले पत्नी को प्रेमी को सौंपने के पंचायत के इस अनोखे फरमान की क्षेत्र में खूब चर्चा है। दोनों के बीच विवाद के बाद बिरादरी की पंचायत बैठी। पंचों ने प्रेमी से महिला को रखने के बारे में सवाल किया, तो उसने हां में जवाब दे दिया। इसके बदले पंचायत ने उसे अपनी आधी भेड़ महिला के पति को देने के लिए कहा। इस पर दोनों पक्ष राजी हो गए। प्रेमी के पास कुल 142 भेड़ों में से 71 भेड़ महिला के पति को दे दिया। इसके बदले पंचायत ने महिला को प्रेमी के साथ जाने की अनुमति दे दी। उमेश और महिला ने भी एक साथ रहने और पंचायत की बात को स्‍वीकार किया है। इसी बीच मामले ने तब फिर तूल पकड़ लिया, जब प्रेमी के पिता ने पंचायत के फैसले पर आपत्ति जताते हुए भेड़ों का झुंड वापस मांगा। यहां तक कि उन्होंने पुलिस स्टेशन में एक लिखित शिकायत दर्ज की और बिना शर्त अपने भेड़ें वापस मांगी। यहां तक कि प्रेमी के पिता ने महिला के पति पर उसकी भेड़ें चुराने का आरोप भी लगाया। हालांकि, महिला ने अपना फैसला नहीं बदला। अब यह मामला पुलिस में है। खोराबार की एसएचओ अंबिका भारद्वाज ने कहा कि, हम शिकायतकर्ता पक्ष के संपर्क में हैं और पुलिस सभी पक्षों से बात करके मामले को सुलझाने का प्रयास कर रही है।