ट्रेन से कटकर युवक के हुए दो टुकड़े, आधा हिस्सा उठकर बोला ‘मालीवाडा का संजू हूं’

ट्रेन से कटकर युवक के हुए दो टुकड़े, आधा हिस्सा उठकर बोला ‘मालीवाडा का संजू हूं’
ट्रेन से कटकर युवक के हुए दो टुकड़े, आधा हिस्सा उठकर बोला ‘मालीवाडा का संजू हूं’

महाराष्ट्र। महाराष्ट्र में नंदूरबार रेलवे स्टेशन पर एक ऐसी हैरान कर देने वाली घटना सामने आई जिसे सुनकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। सोमवार सुबह करीब 10:30 बजे एक शख्स ने मालगाड़ी के आगे कूद कर खुदकुशी कर ली और उसका शरीर दो हिस्सों में बंट गया। मौके पर जब पुलिस पहुंची तो उसने युवक के ऊपर के धड़ को छुआ तभी उसका धड़ हाथों का सहारा लेकर उठा और टूटते शब्दों में अपना नाम-पता बताते हुए बोला- मैं मालीवाड़ा का संजू हूं और नंदूरबार का निवासी हूं। हालांकि जबतक पुलिस उससे और सवाल करती तब तक उसने दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान नंदूरबार निवासी संजय नामदेव मराठे (30) के रूप में हुई है। फिलहाल अभी तक संजय के खुदकुशी करने की वजह साफ नहीं हो पायी है।

Man Cut By Goods Train At Nandurbar Railway Station :

संजू का पूरा नाम संजय है और वह मराठे नंदूरबार में ऑटो चलाता था। जब संजय के इस कदम की जानकारी नंदूरबार के ऑटो चालकों को मिली तब उनलोगों ने संजय मराठे के अंतिम संस्कार तक कामकाज बंद रखा।

पहली बार देखी है ऐसी घटना
घटना की जानकारी मिलने पर रेलवे पुलिस सहायक संजय वसंत तिरगी रेस्क्यू के लिए पहुंचे। देखा कि युवक रेलवे ट्रैक पर पड़ा था। गुड्स ट्रेन ऊपर से गुजरने की वजह से उसका शरीर दो हिस्सों में कट चुका था। हाथ में हलचल महसूस होने पर मैंने धड़ के हिस्से को उठाने का प्रयास किया तो उसने आंखें खोलीं। मैंने नाम पूछा, तो बोला-‘मालीवाडा का संजू हूं’। इसके 10 मिनट बाद उसकी सांसें थम गईं। मैंने अपने जीवन में ऐसी पहली घटना देखी है।

महाराष्ट्र। महाराष्ट्र में नंदूरबार रेलवे स्टेशन पर एक ऐसी हैरान कर देने वाली घटना सामने आई जिसे सुनकर आपके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। सोमवार सुबह करीब 10:30 बजे एक शख्स ने मालगाड़ी के आगे कूद कर खुदकुशी कर ली और उसका शरीर दो हिस्सों में बंट गया। मौके पर जब पुलिस पहुंची तो उसने युवक के ऊपर के धड़ को छुआ तभी उसका धड़ हाथों का सहारा लेकर उठा और टूटते शब्दों में अपना नाम-पता बताते हुए बोला- मैं मालीवाड़ा का संजू हूं और नंदूरबार का निवासी हूं। हालांकि जबतक पुलिस उससे और सवाल करती तब तक उसने दम तोड़ दिया। मृतक की पहचान नंदूरबार निवासी संजय नामदेव मराठे (30) के रूप में हुई है। फिलहाल अभी तक संजय के खुदकुशी करने की वजह साफ नहीं हो पायी है।संजू का पूरा नाम संजय है और वह मराठे नंदूरबार में ऑटो चलाता था। जब संजय के इस कदम की जानकारी नंदूरबार के ऑटो चालकों को मिली तब उनलोगों ने संजय मराठे के अंतिम संस्कार तक कामकाज बंद रखा। पहली बार देखी है ऐसी घटना घटना की जानकारी मिलने पर रेलवे पुलिस सहायक संजय वसंत तिरगी रेस्क्यू के लिए पहुंचे। देखा कि युवक रेलवे ट्रैक पर पड़ा था। गुड्स ट्रेन ऊपर से गुजरने की वजह से उसका शरीर दो हिस्सों में कट चुका था। हाथ में हलचल महसूस होने पर मैंने धड़ के हिस्से को उठाने का प्रयास किया तो उसने आंखें खोलीं। मैंने नाम पूछा, तो बोला-‘मालीवाडा का संजू हूं’। इसके 10 मिनट बाद उसकी सांसें थम गईं। मैंने अपने जीवन में ऐसी पहली घटना देखी है।