कानपुर: SSP ऑफिस के सामने कपड़े उतारने लगा युवक, जाने क्यों?

कानपुर| यूपी के कानपुर जिले में बुधवार दोपहर एक शख्स एसएसपी ऑफिस के बाहर पहुंचकर अपने कपड़े उतारने लगा। युवक की इस हरकत को देख सभी हैरान रह गए। पुलिस वाले उसे रोकने की कोशिश करने लगे, इसपर युवक ने कहा कि हम कोई गलत हरकत नहीं कर रहे हैं, बल्क‍ि लोगों को अपने शरीर पर लगे चोट के निशान दिखा रहे हैं।




मामला कानपुर शहर के चकेरी थाना क्षेत्र का हैं। यहां रहने वाला विवेक अचानक एसएसपी ऑफिस पहुंचकर अपने कपड़े उतारने लगा। ये देख सभी हैरान रह गए। कपड़े उतारने के बाद दिखा कि विवेक के शरीर पर पीठ से लेकर कमर तक चोट के निशान हैं। कहीं डंडे की मार का नीला निशान पड़ा था, तो कहीं चमड़ी उधड़ गई थी। जब वहां खड़े लोगों ने इसकी वजह पूछी तो उसने बताया कि 10 अप्रैल की रात 3 बजे श्याम नगर चौकी इंचार्ज कृषपाल सिंह उसके प्लाट पर आए और उससे चौकी चलने को कहा। जब उसने चौकी ले जाने की वजह पूछी तो उन्होंने डंडे बरसाने शुरू कर दिए। इसी दौरान मैं बेहोश हो गया जिसके बाद वो मुझे जीप में डाल कर चौकी ले गए। चौकी पर उन्होंने मुझे बेल्ट से पीटा। पिटाई से मेरे बाएं पैर की उंगली भी टूट गई। पीड़ित का कहना है कि अगले दिन जब परिजन मुझे छुड़ाने के लिए थाने पहुंचे तो उन्हे गली देकर भागा दिया गया। इसके बाद मेरे परिजन मदद के लिए सीओ के पास गए तो उन्होंने मेरा 151 में चालान कर छोड़ दिया।



ये है पूरा मामला

पीड़ित विवेक ने चौकी इंचार्ज पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उसने श्याम नगर इलाके के गिरजानगर में घर के पास फरवरी में 100 गज का एक प्लाट खरीदा था। उस प्लाट पर क्षेत्र का दबंग और हिस्ट्रीशीटर देवी प्रसाद जबरन कब्जा करना चाहता था। उसने कई बार प्लाट छोड़ने की धमकी भी दी थी। पीड़ित का कहना है कि उसने इस बात कि शिकायत चकेरी थाने में की लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। जब इस बात का पता देवी प्रसाद को हुआ तो उसने श्याम नगर चौकी इंचार्ज कृषपाल सिंह को अपनी तरफ मिला लिया। इसके बाद उन सब ने मुझे मारा-पीटा और जान से मारने की धमकी भी दी। मामला प्रकाश में आने के बाद एसएसपी कानपुर आकाश कुलहरि ने एसपी सिटी को जांच सौंपते हुए 2 दिन में रिपोर्ट देने को कहा है।