1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Mandous Cyclone Live : मैंडूस का तमिलनाडु कहर शुरू, चार की मौत, चेन्नई में 400 पेड़ उखड़े

Mandous Cyclone Live : मैंडूस का तमिलनाडु कहर शुरू, चार की मौत, चेन्नई में 400 पेड़ उखड़े

Mandous Cyclone Live : चक्रवाती तूफान मैंडूस देर रात तमिलनाडु के मामल्लापुरम तट से टकरा गया है। चक्रवात मेंडूस के कारण तमिलनाडु में हो रही भारी बारिश के चलते चार लोगों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बताया कि बारिश और तूफान के कारण 98 मवेशियों की भी मौत हुई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Mandous Cyclone Live : चक्रवाती तूफान मैंडूस देर रात तमिलनाडु के मामल्लापुरम तट से टकरा गया है। चक्रवात मेंडूस के कारण तमिलनाडु में हो रही भारी बारिश के चलते चार लोगों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने बताया कि बारिश और तूफान के कारण 98 मवेशियों की भी मौत हुई है। इसके अलावा 151 घर भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि चेन्नई में तेज हवाओं के कारण 400 पेड़ों के उखड़ने की सूचना है। सीएम ने कहा कि मैं प्रभावित क्षेत्रों को निरीक्षण कर रहा हूं। नुकसान का आंकलन किया जा रहा है।

पढ़ें :- यूपी देश के टॉप-4 राज्यों में शामिल, 75 लाख से अधिक नल कनेक्शन देने का आंकड़ा किया पार

इसके तटीय क्षेत्रों में देर रात से मध्यम से भारी बारिश जारी है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में भी मध्यम से भारी बारिश के कारण नुकसान हुआ है। तमिलनाडु में अब तक चार लोगों की मौत की सूचना है। दोनों राज्यों के कई क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। चक्रवात मैंडूस के कारण आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में बुरा हाल है। शनिवार को वाईएसआर कांगेस विधायक भुमना करुणाकर ने तिरुपति में प्रभावित क्षेत्रों का दौरान कर जमीनी हालात का जायजा लिया। इस दौरान कई स्थानीय अधिकारी भी मौजूद रहे। बता दें, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश में भारी बारिश के चलते गई रिहायशी इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है।

आंध्र प्रदेश के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा

आंध्र प्रदेश के केवीबी पुरम मंडल के कई इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। राज्य के कोवनूर, थिम्मासमुद्रम, राजुला कंडिगा में भारी बारिश के कारण नदियां उफनाने लगी हैं। सड़कें जलमग्न हो गई हैं तो वहीं यातायात भी बाधित हुआ है।

राहत कैंपों में पहुंचे 200 से अधिक लोग

चेन्नई में चक्रवात मैंडूस के कारण भारी तबाही देखी गई है। ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन के कमिश्नर गगनदीप बेदी ने बताया, अब तक करीब 200 लोगों को प्रभावित क्षेत्रों से निकालकर राहत कैंपों में स्थानांतरित किया गया है। करीब 9000 लोगों को भोजन सामग्री प्रदान की गई है। उन्होंने बताया, दुर्घटनाओं से बचने के लिए हमने 15 हजार पेड़ों की शाखाओं को काट दिया था। राहत कार्य के लिए 500 से अधिक कर्मचारियों को तैनात किया गया था।

मरीना बीच पर दिव्यांगों के लिए बना रैंप क्षतिग्रस्त

चक्रवात मैंडूस ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को भारी बारिश और तेज हवाओं के चलते चेन्नई के मरीना बीच पर बनी रैंप क्षतिग्रस्त हो गई। दिव्यांग लोगों के लिए बनी इस रैंप का उद्घाटना 27 नवंबर को किया गया था।

आंध्र प्रदेश के सीएम रेड्डी ने बुलाई उच्चस्तीय बैठक

पढ़ें :- Shanti Bhushan Passes Away: पूर्व कानून मंत्री शांति भूषण नहीं रहे, 97 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

दक्षिण आंध्र प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के बाद मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। इस दौरान उन्होंने चक्रवात की स्थिति का जायजा लिया और एसपीएसआर नेल्लोर, तिरुपति, चित्तूर और अन्नामय्या जिलों के कलेक्टरों को सतर्क रहने के निर्देश दिए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...