मंदसौर: मृतकों के परिजनों से मुलाक़ात के लिये जा रहे हार्दिक पटेल पुलिस हिरासत में

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के मंदसौर में पुलिस की फायरिंग में मारे गये किसानों के परिजनों से मुलाक़ात के लिये जा रहे गुजरात के युवा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और उनके चार साथियों को हिरासत में ले लिया गया। उन्हें नीमच जिले के नयागांव बैरियर से हिरासत में लिया गया। पुलिस ने उनके अन्य साथियों पर हल्का बलप्रयोग कर उन्हें खदेड़ दिया।




नीमच के पुलिस अधीक्षक टी.के. विद्यार्थी के मुताबिक, हार्दिक पटेल को नीमच आने की अनुमति नहीं दी गई थी। उन्हें मध्य प्रदेश-राजस्थान की सीमा पर नयागांव बैरियर पर रोका गया। उनके काफिले में 20 गाड़ियों में लगभग 150 लोग सवार थे। पटेल और उनके चार साथियों को हिरासत में ले लिया गया जबकि अन्य को पुलिस ने खदेड़ दिया।



    पाटीदार नवनिर्माण सेना के राष्ट्रीय महासचिव अखिलेश कटियार के अनुसार, हार्दिक पटेल मंदसौर के लिए उदयपुर से निकले थे। वह पीड़ितों के परिजनों के साथ कई अन्य किसान नेताओं से भी मिलना चाहते थे। दोनों राज्यों को जोड़ने वाले नयागांव बैरियर पर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। वाहनों की आवाजाही भी बंद है, जिससे दोनों ओर सैकड़ों पर वाहनों की कतारें लग गई हैं।


    { यह भी पढ़ें:- केंद्र सरकार द्वारा पोषित 1000 करोड़ की अमृत योजना निरस्त, यूपी सरकार ने पैसों के अभाव में रोकी योजना }

    Loading...