कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित हुए मणिशंकर अय्यर, पीएम मोदी को बोला था ‘नीच’

manishankar-ayyar

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘नीच’ कहना काफी महंगा पड़ गया, उन्हे पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। साथ ही अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

Mani Shankar Aiyar Suspended From The Primary Membership Of The Congress Party :

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘यही है कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना। कांग्रेस पार्टी ने मनी शंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित कर दिया है।

बता दें कि अय्यर ने कहा था, “मुझको ये आदमी बहुत नीच किस्म का लगता है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है। ऐसे मौके पर इस तरह की गंदी राजनीति की क्या आवश्यकता है?” उनके इस बयान पर विवाद बढ़ा तो राहुल गांधी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ। इसमें कहा गया कि हम उम्मीद करते हैं कि अय्यर इस भाषा के लिए माफी मांगेंगे।

प्रधानमंत्री ने अय्यर पर निशाना साधते हुए कहा कि वह एक अच्छे परिवार से आते हैं और उनके पास कई विश्वविद्यालयों की उपाधियां हैं। वह वर्षो तक कूटनीतिज्ञ रह चुके हैं और मनमोहन सिंह की सरकार में मंत्री भी थे। लेकिन वह ऐसे अपमान सूचक शब्दों का प्रयोग करते हैं। मोदी ने कहा, “यह गुजरात का अपमान है। यह सिर्फ गुजरात नहीं बल्कि संपूर्ण राष्ट्र का अपमान है।”

मोदी ने अय्यर के लिए कहा, “आप ऐसे लोग हैं जो जाति के आधार पर भेदभाव करते हैं, हम नहीं। उनको परेशानी महसूस हो रही है। आप हमें ‘गंदी नली का कीड़ा’ कहकर पुकारते हैं, आप हमें नीच जाति का कहकर बुलाते हैं लेकिन हम अपनी संस्कृति नहीं छोड़ेंगे।”

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'नीच' कहना काफी महंगा पड़ गया, उन्हे पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। साथ ही अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, 'यही है कांग्रेस का गांधीवादी नेतृत्व व विरोधी के प्रति सम्मान की भावना। कांग्रेस पार्टी ने मनी शंकर अय्यर को कारण बताओ नोटिस जारी कर प्राथमिक सदस्यता से निलम्बित कर दिया है। बता दें कि अय्यर ने कहा था, "मुझको ये आदमी बहुत नीच किस्म का लगता है। इसमें कोई सभ्यता नहीं है। ऐसे मौके पर इस तरह की गंदी राजनीति की क्या आवश्यकता है?" उनके इस बयान पर विवाद बढ़ा तो राहुल गांधी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ। इसमें कहा गया कि हम उम्मीद करते हैं कि अय्यर इस भाषा के लिए माफी मांगेंगे।प्रधानमंत्री ने अय्यर पर निशाना साधते हुए कहा कि वह एक अच्छे परिवार से आते हैं और उनके पास कई विश्वविद्यालयों की उपाधियां हैं। वह वर्षो तक कूटनीतिज्ञ रह चुके हैं और मनमोहन सिंह की सरकार में मंत्री भी थे। लेकिन वह ऐसे अपमान सूचक शब्दों का प्रयोग करते हैं। मोदी ने कहा, "यह गुजरात का अपमान है। यह सिर्फ गुजरात नहीं बल्कि संपूर्ण राष्ट्र का अपमान है।"मोदी ने अय्यर के लिए कहा, "आप ऐसे लोग हैं जो जाति के आधार पर भेदभाव करते हैं, हम नहीं। उनको परेशानी महसूस हो रही है। आप हमें 'गंदी नली का कीड़ा' कहकर पुकारते हैं, आप हमें नीच जाति का कहकर बुलाते हैं लेकिन हम अपनी संस्कृति नहीं छोड़ेंगे।"