1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Manish Gupta Murder: क्या हुआ होगा घटना वाली रात, ये समझने के लिए रिक्रिएशन करने गोरखपुर जायेगी सीबीआई की टीम

Manish Gupta Murder: क्या हुआ होगा घटना वाली रात, ये समझने के लिए रिक्रिएशन करने गोरखपुर जायेगी सीबीआई की टीम

गोरखपुर में हुए चर्चित मनीष गुप्ता हत्याकांड के गुत्थी को सुलझाने का काम सीबीआई को सौंपा गया था। घटना वाली रात को क्या हुआ था ये जानने और समझने के लिए सीबीआई की टीम जल्द ही गोरखपुर जा सकती है। जहां सीबीआई की टीम पूरे घटना का रिक्रिएशन करेगी। आपको बता दें कि कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए गुरुवार को सीबीआई ने मनीष के दूसरे दोस्त प्रदीप सिंह से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की।

By प्रिन्स राज 
Updated Date

गोरखपुर। गोरखपुर में हुए चर्चित मनीष गुप्ता हत्याकांड(Manish Gupta Murder) के गुत्थी को सुलझाने का काम सीबीआई को सौंपा गया था। घटना वाली रात को क्या हुआ था ये जानने और समझने के लिए सीबीआई की टीम जल्द ही गोरखपुर जा सकती है। जहां सीबीआई की टीम पूरे घटना का रिक्रिएशन करेगी। आपको बता दें कि कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए गुरुवार को सीबीआई ने मनीष के दूसरे दोस्त प्रदीप सिंह से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की। तीन रांउड चली पूछताछ के दौरान सीबीआई(CBI) ने मनीष से उसकी दोस्ती और घटनावाली रात की पूरी कहानी समझने का प्रयास किया और अन्य दोस्तों के बयान का मिलान कराया। इससे पहले बुधवार को हरबीर सिंह से सीबीआई ने पूछताछ की थी।

पढ़ें :- Aircel-Maxis Case : कोर्ट ने पी चिदंबरम व उनके बेटे कार्ति को 20 दिसंबर को किया तलब

सीबीआई ने एक दिन पहले लिए गए हरबीर के बयान और गोरखपुर में अन्य दोस्तों के बयानों को भी प्रदीप के बयान से मैच कराया। पुलिस(Police) की पिटाई से मनीष की मौत होने की जानकारी प्रदीप ने सीबीआई को दी। पर पिटाई कब, कैसे और किसने की, इस बारे में वह कुछ नहीं बता पाया। वहीं, इससे पहले हरबीर ने भी पुलिस की पिटाई अपनी आंख से देखे जाने की बात से इन्कार किया था। हरबीर का कहना था कि घटना के समय पुलिस(Police) वाले उसे थप्पड़ मारकर होटल से नीचे लेते गए थे। बहरहाल अब सीबीआई मनीष के दोनों दोस्त हरबीर सिंह और प्रदीप सिंह को लेकर जल्द ही गोरखपुर आएगी। यहां टीम दोनों के साथ एक बार क्राइम सीन रि?क्रिएट करेगी। इसके बाद फिर आगे की जांच होगी। उधर, एक दिसम्बर को आरोपी पुलिस वालों की की न्यायिक हिरासत पूरी होगी लिहाजा उससे पहले सीबीआई गोरखपुर आ जाएगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...