HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र पर मोदी की तस्वीर देख भड़के मांझी, बोले- इतना शौक है तो डेथ सर्टिफिकेट पर लगवाएं फोटो

वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र पर मोदी की तस्वीर देख भड़के मांझी, बोले- इतना शौक है तो डेथ सर्टिफिकेट पर लगवाएं फोटो

बिहार में भी कोरोना महामारी का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में टीकाकरण के प्रमाण पत्र पर पीएम मोदी की तस्वीर को लेकर सहयोगी दल लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसी बीच हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी ने वैक्सीन के प्रमाण पत्र पर फोटो को लेकर एनडीए को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने तीखी टिप्पणी भी की।

By संतोष सिंह 
Updated Date

पटना। बिहार में भी कोरोना महामारी का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में टीकाकरण के प्रमाण पत्र पर पीएम मोदी की तस्वीर को लेकर सहयोगी दल लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसी बीच हम पार्टी के प्रमुख जीतन राम मांझी ने वैक्सीन के प्रमाण पत्र पर फोटो को लेकर एनडीए को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने तीखी टिप्पणी भी की।

पढ़ें :- Braj Mandal Yatra: ब्रज मंडल यात्रा से पहले नूंह में इंटरनेट-SMS सेवा 24 घंटे के लिए बंद , सरकार अलर्ट

जानें क्या कहा जीतन राम मांझी ने?

जीतन राम मांझी ने इस मामले में ट्वीट करते हुए लिखा है कि वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर यदि तस्वीर लगाने का इतना ही शौक है तो कोरोना से हो रही मृत्यु के डेथ सर्टिफिकेट पर भी तस्वीर लगाई जाए। यही न्याय संगत होगा।

 

टीका लगवाने के दौरान भड़के मांझी

जीतन राम मांझी ने रविवार को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई। उस दौरान उन्होंने कोरोना टीकाकरण के प्रमाण पत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर होने पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति देश के सभी संवैधानिक संस्थानों में से एक हैं। ऐसे में प्रमाण पत्र पर राष्ट्रपति की तस्वीर होनी चाहिए। बता दें कि मांझी की इस टिप्पणी के बाद राजनीतिक हलचल तेज हो गई।

लॉकडाउन पर भी जताई थी नाराजगी

पढ़ें :- दुकानों पर नाम लिखने से बढ़ेगा भाईचारा, विपक्ष कर रहा विभाजनकारी राजनीति : स्वाती सिंह

बिहार में लॉकडाउन लगाने पर भी मांझी ने नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि लॉकडाउन लगाने से पहले राज्य सरकार को गरीबों के लिए मुफ्त राशन और खाने-पीने की व्यवस्था करनी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से बेरोजगार युवाओं को नौकरी मिलने तक 5 हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता देने की मांग भी की थी। इसके अलावा राजद नेता पप्पू यादव की गिरफ्तारी को लेकर भी जीतन राम मांझी ने खुलकर विरोध जताया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...