1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Mann Ki Baat: पीएम मोदी ने दी क्रिसमस की शुभकमानाएं, कहा-2022 में देशवासियों ने एक और अमर इतिहास लिखा

Mann Ki Baat: पीएम मोदी ने दी क्रिसमस की शुभकमानाएं, कहा-2022 में देशवासियों ने एक और अमर इतिहास लिखा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देशवासियों से 'मन की बात' की। क्रिसमस के मौके पर उन्होंने देशवासियों को शुभकमानाएं दीं। उन्होंने देशवासियों से ईसा मसीह की सीख को याद रखने का आह्वान किया। इसके साथ ही कहा कि, 2022, कई मायने में बहुत ही प्रेरक और अद्भुत रहा। इस वर्ष भारत ने अपनी आजादी के 75 वर्ष पूरे किए और अमृतकाल का प्रारंभ हुआ।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देशवासियों से ‘मन की बात’ की। क्रिसमस के मौके पर उन्होंने देशवासियों को शुभकमानाएं दीं। उन्होंने देशवासियों से ईसा मसीह की सीख को याद रखने का आह्वान किया। इसके साथ ही कहा कि, 2022, कई मायने में बहुत ही प्रेरक और अद्भुत रहा। इस वर्ष भारत ने अपनी आजादी के 75 वर्ष पूरे किए और अमृतकाल का प्रारंभ हुआ।

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा

इस साल देश ने नई रफ्तर पकड़ी और सभी देशवासियों ने एक से बढ़कर एक काम किए। साथ ही कहा कि, साल 2022 एक और कारण से हमेशा याद किया जाएगा। ये है, ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ की भावना का विस्तार। देश के लोगों ने एकता और एकजुटता को celebrate करने के लिए भी कई अद्भुत आयोजन किए।

पीएम मोदी ने कहा कि, 2022 में देशवासियों ने एक और अमर इतिहास लिखा है। अगस्त के महीने में चला ‘हर घर तिरंगा’ अभियान भला कौन भूल सकता है। वो पल थे हर देशवासी के रौंगटे खड़े हो जाते थे। आजादी के 75 वर्ष के इस अभियान में पूरा देश तिरंगामय हो गया।

एक महान राजनेता थे अटलजी
पीएम मोदी ने कहा कि, आज, हम सभी के श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी का जन्मदिन है। वे एक महान राजनेता थे, जिन्होनें देश को असाधारण नेतृत्व दिया। हर भारतवासी के ह्रदय में उनके लिए एक खास स्थान है। आज दुनियाभर में धूमधाम से Christmas का त्योहार भी मनाया जा रहा है। ये Jesus Christ के जीवन, उनकी शिक्षाओं को याद करने का दिन है। मैं आप सभी को Christmas की ढेर सारी शुभकामनाएं देता हूं।

कालाजार बीमारी हो रही खत्म
आज ‘मन की बात’ के श्रोताओं को मैं एक और चुनौती के बारे में बताना चाहता हूं, जो अब समाप्त होने की कगार पर है। ये चुनौती, ये बीमारी है -‘कालाजार’। सबके प्रयास से ‘कालाजार’ नाम की ये बीमारी अब तेजी से समाप्त होती जा रही है।

पढ़ें :- Hindenburg Research Report से शेयर बाजार में मचा तहलका, अडानी ग्रुप में जानें कितना लगा है सरकारी पैसा, सकते में LIC और बड़े बैंक

 

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...