प्रियंका की ‘सत्याग्रही स्कूटी’ का चालान.. इन बिना हेलमेट भाजपा कार्यकर्ताओं पर कब होगी कार्रवाई ?

bjp rally
अपनो पे रहम गैरों पे सितम : मनोज तिवारी की रैली में शामिल थे सैकड़ो बिना हेलमेट बाइक सवार, लखनऊ में प्रियंका गांधी का हुआ था चालान

दिल्ली। दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने गुरुवार को दिल्ली में रैली निकाली। उनकी रैली में हजारों बीजेपी समर्थकों ने बढ़—चढ़ कर हिस्सा लिया। रैली से पहले सैकड़ो बाइक सवार पार्टी मुख्यालय पर एकत्रित हुए। जहां मनोज तिवारी ने उनकी अभिवादन किया और फिर पर उनके साथ बाइक रैली की शुरुआत की। मनोज तिवारी की बाइक पर दिल्ली की वरिष्ठ बीजेपी नेता विजय गोयल सवार थे।

Manoj Tiwaris Rally Was Attended By Hundreds Without Helmet Bike Priyanka Gandhi Was Challaned In Lucknow :

बता दें रैली की शुरुआत हुई तो मनोज तिवारी ने बाइक की कमान संभाली। उनकी बाइक पर पीछे की सीट पर विजय गोयल सवार थे। इस दौरान मनोज तिवारी और विजय गोयल ने तो हेलमेट लगाा रखा थे, लेकिन उनके काफिले में दर्जनों बाइक सवार ऐसे थे जिन लोगों ने हेलमेट नहीं लगा रखा थे। यहां तक कई बाइक सवार रैली की दौरान बाइक चलाते हुए मोबाइल फोन पर बात कर रहे थे। इस दौरान भारी संख्या में ट्रैफिक कर्मी भी वहां मौजूद थे, फिर भी इन लोगों पर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई।

गौरतलब हो कि अभी हाल हीं कांग्रेस महा​सचिव प्रियंका गांधी लखनऊ आई थी। इस दौरान वो अपने एक सम​र्थक के घर जा रही थी, लेकिन पुलिस ने धारा 144 का हवाला देकर उन्हे रोंक लिया। इस पर वो स्कूटी पर सवार होकर अपने कार्यकर्ता के घर पहुंचे। इसके अगले दिन ही उस स्कूटी मालिक के घर बिना हेलमेट चलने का चालान पहुंच गया। अब सवार ये उठता है कि अगर विपक्षी पार्टी का कोई नेता यातायात नियम तोड़ता है तो उस पर कार्रवाई हो जाती है, और जब सत्तापक्ष का नेता व उसके समर्थक ऐसा करते हुैं तो सारे—नियम कानून कहां चले जाते हैं।

दिल्ली। दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने गुरुवार को दिल्ली में रैली निकाली। उनकी रैली में हजारों बीजेपी समर्थकों ने बढ़—चढ़ कर हिस्सा लिया। रैली से पहले सैकड़ो बाइक सवार पार्टी मुख्यालय पर एकत्रित हुए। जहां मनोज तिवारी ने उनकी अभिवादन किया और फिर पर उनके साथ बाइक रैली की शुरुआत की। मनोज तिवारी की बाइक पर दिल्ली की वरिष्ठ बीजेपी नेता विजय गोयल सवार थे। बता दें रैली की शुरुआत हुई तो मनोज तिवारी ने बाइक की कमान संभाली। उनकी बाइक पर पीछे की सीट पर विजय गोयल सवार थे। इस दौरान मनोज तिवारी और विजय गोयल ने तो हेलमेट लगाा रखा थे, लेकिन उनके काफिले में दर्जनों बाइक सवार ऐसे थे जिन लोगों ने हेलमेट नहीं लगा रखा थे। यहां तक कई बाइक सवार रैली की दौरान बाइक चलाते हुए मोबाइल फोन पर बात कर रहे थे। इस दौरान भारी संख्या में ट्रैफिक कर्मी भी वहां मौजूद थे, फिर भी इन लोगों पर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई। गौरतलब हो कि अभी हाल हीं कांग्रेस महा​सचिव प्रियंका गांधी लखनऊ आई थी। इस दौरान वो अपने एक सम​र्थक के घर जा रही थी, लेकिन पुलिस ने धारा 144 का हवाला देकर उन्हे रोंक लिया। इस पर वो स्कूटी पर सवार होकर अपने कार्यकर्ता के घर पहुंचे। इसके अगले दिन ही उस स्कूटी मालिक के घर बिना हेलमेट चलने का चालान पहुंच गया। अब सवार ये उठता है कि अगर विपक्षी पार्टी का कोई नेता यातायात नियम तोड़ता है तो उस पर कार्रवाई हो जाती है, और जब सत्तापक्ष का नेता व उसके समर्थक ऐसा करते हुैं तो सारे—नियम कानून कहां चले जाते हैं।