सूर्य देंगे शिक्षा का वरदान, करें इन मंत्रों का जाप

sun_fb_1509866575_618x347

सूर्य उपासना में आपकी शिक्षा और करियर से जुड़ी हर समस्या का समाधान छुपा है. इनमें से किसी भी मंत्र का जाप आपके जीवन को सूर्य के समान कांतिमान बना सकता है. अगर आप अपनी शिक्षा या करियर से संतुष्ट नहीं है तो ये मंत्र आपके लिए बड़ा समाधान बन सकते हैं. खासकर अगर इन मंत्रों का जाप उगते हुए मधुर लालिमा वाले सूर्य के सामने किया जाय तो ये मंत्र और भी प्रभावी होते हैं.

Mantras For Succes For Students Tpra :

उत्तम शिक्षा के लिए सूर्य की उपासना

– रोजाना सूर्योदय से पहले ही शुद्ध होकर स्नान कर लेना चाहिए.

– नहाने के बाद सूर्यनारायण को तीन बार अर्घ्य देकर प्रणाम करें.

– संध्या के समय फिर से सूर्य को अर्घ्य देकर प्रणाम करें.

– सूर्य के किसी भी मंत्र का श्रद्धापूर्वक जाप करें

– आदित्य हृदय का नियमित पाठ करें.

– रविवार को तेल और नमक नहीं खाना चाहिए

– इस दिन एक समय ही भोजन करना चाहिए.

भगवान सूर्य का आर्शीवाद पाने के लिए जपें यह मंत्र

ॐ सूर्याय नम: । ॐ भास्कराय नम:।

ॐ रवये नम: । ॐ मित्राय नम: ।

ॐ भानवे नम: ॐ खगय नम: ।

ॐ पुष्णे नम: । ॐ मारिचाये नम: ।

ॐ आदित्याय नम: । ॐ सावित्रे नम: ।

ॐ आर्काय नम: । ॐ हिरण्यगर्भाय नम: ।

सूर्य उपासना में आपकी शिक्षा और करियर से जुड़ी हर समस्या का समाधान छुपा है. इनमें से किसी भी मंत्र का जाप आपके जीवन को सूर्य के समान कांतिमान बना सकता है. अगर आप अपनी शिक्षा या करियर से संतुष्ट नहीं है तो ये मंत्र आपके लिए बड़ा समाधान बन सकते हैं. खासकर अगर इन मंत्रों का जाप उगते हुए मधुर लालिमा वाले सूर्य के सामने किया जाय तो ये मंत्र और भी प्रभावी होते हैं.उत्तम शिक्षा के लिए सूर्य की उपासना- रोजाना सूर्योदय से पहले ही शुद्ध होकर स्नान कर लेना चाहिए.- नहाने के बाद सूर्यनारायण को तीन बार अर्घ्य देकर प्रणाम करें.- संध्या के समय फिर से सूर्य को अर्घ्य देकर प्रणाम करें.- सूर्य के किसी भी मंत्र का श्रद्धापूर्वक जाप करें- आदित्य हृदय का नियमित पाठ करें.- रविवार को तेल और नमक नहीं खाना चाहिए- इस दिन एक समय ही भोजन करना चाहिए.
भगवान सूर्य का आर्शीवाद पाने के लिए जपें यह मंत्रॐ सूर्याय नम: । ॐ भास्कराय नम:।ॐ रवये नम: । ॐ मित्राय नम: ।ॐ भानवे नम: ॐ खगय नम: ।ॐ पुष्णे नम: । ॐ मारिचाये नम: ।ॐ आदित्याय नम: । ॐ सावित्रे नम: ।ॐ आर्काय नम: । ॐ हिरण्यगर्भाय नम: ।