निजामुद्दीन मरकज: कई विदेशी जमाते पहुंची भोपाल, सभी को किया क्वारेंटाइन

nizamuddin-corona-connection-696x367

भोपाल। दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज (धार्मिक आयोजन) में कोरोना वायरस का मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच है। आनन-फानन में विभाग आयोजन में शामिल लोगों की पहचान कर उनका कोरोना टेस्ट करा रहा है। इसी बीच खबरें हैं कि इनमें से 22 विदेशी जमाते भोपाल में भी शामिल है। जिनकी कोरोना जांच कर उन्हे मस्जिद में ही क्वारेंटाइन कर दिया गया है। बता दे कि इनमें से 4 महिलाएं भी शामिल है। वहीं प्रशान और डाॅक्टर्स की टीम ने इन लोगों पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

Many Foreigners Arrived In Bhopal Quarantine Everyone :

गौरतलब है कि मरकज में विदेश सहित भारत के भी कई क्षेत्रों से लोग पहुंचे थे, ऐसे में कोरोना के दूर-दूर तक फैलने की आशंका जताई जा रही है। वहीं इस घटना ने सरकार के भी कान खड़े कर दिए हैं। निजामुद्दीन में आयोजित मरकज से मध्य प्रदेश में भी 107 लोग पहुंचे हैं, जिनमें से 22 लोग भोपाल में ठहरे हुए हैं। जमाते राजधानी में दो मस्जिदों में डटी हुई है। 13 लोगों की एक जमात रहमानी मस्जिद में मौजूद हैं जो जो बर्मा से दिल्ली के निजामुद्दीन होते हुए फिर भोपाल आयी थी। जबकि 8 लोगों की दूसरी जमात जहांगीराबाद की सिकंदरिया मस्जिद में मिली है।

वहीं जमात की खबर मिलते ही भोपाल प्रशासन भी अलर्ट हो गया और तत्काल जमात का चेकअप करवाया। साथ ही लोगों के सैंपल भी टेस्ट के लिए भेजे गए हैं और सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया है। बता दे कि भोपाल मे फिलहाल कई विदेशी जमाते ठहरी हुई है। ये लोग इंडोनेशिया,मलेशिया,तुर्किस्तान से यहां पहुंचे हैं। ये सभी 22 फरवरी को राजधानी आए थे और इन्हे 25 मार्च को लौटना था। लेकिन लॉक डाउन के चलतेे यहीं रह गए।

भोपाल। दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज (धार्मिक आयोजन) में कोरोना वायरस का मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच है। आनन-फानन में विभाग आयोजन में शामिल लोगों की पहचान कर उनका कोरोना टेस्ट करा रहा है। इसी बीच खबरें हैं कि इनमें से 22 विदेशी जमाते भोपाल में भी शामिल है। जिनकी कोरोना जांच कर उन्हे मस्जिद में ही क्वारेंटाइन कर दिया गया है। बता दे कि इनमें से 4 महिलाएं भी शामिल है। वहीं प्रशान और डाॅक्टर्स की टीम ने इन लोगों पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। गौरतलब है कि मरकज में विदेश सहित भारत के भी कई क्षेत्रों से लोग पहुंचे थे, ऐसे में कोरोना के दूर-दूर तक फैलने की आशंका जताई जा रही है। वहीं इस घटना ने सरकार के भी कान खड़े कर दिए हैं। निजामुद्दीन में आयोजित मरकज से मध्य प्रदेश में भी 107 लोग पहुंचे हैं, जिनमें से 22 लोग भोपाल में ठहरे हुए हैं। जमाते राजधानी में दो मस्जिदों में डटी हुई है। 13 लोगों की एक जमात रहमानी मस्जिद में मौजूद हैं जो जो बर्मा से दिल्ली के निजामुद्दीन होते हुए फिर भोपाल आयी थी। जबकि 8 लोगों की दूसरी जमात जहांगीराबाद की सिकंदरिया मस्जिद में मिली है। वहीं जमात की खबर मिलते ही भोपाल प्रशासन भी अलर्ट हो गया और तत्काल जमात का चेकअप करवाया। साथ ही लोगों के सैंपल भी टेस्ट के लिए भेजे गए हैं और सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया है। बता दे कि भोपाल मे फिलहाल कई विदेशी जमाते ठहरी हुई है। ये लोग इंडोनेशिया,मलेशिया,तुर्किस्तान से यहां पहुंचे हैं। ये सभी 22 फरवरी को राजधानी आए थे और इन्हे 25 मार्च को लौटना था। लेकिन लॉक डाउन के चलतेे यहीं रह गए।