1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मुनव्वर राना की बेटी सुमैया राना सहित कई नेता सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले-विरोधियों की आवाज दबा रही सरकार

मुनव्वर राना की बेटी सुमैया राना सहित कई नेता सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले-विरोधियों की आवाज दबा रही सरकार

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसी क्रम में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संकेत दिए हैं कि वह 2022 में छोटे दलों को साथ लेकर चुनाव लड़ सकते हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद नागरिकता संशोधन कानून व एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान दर्ज मुकदमें भी वापस लिए जाएंगे।

पढ़ें :- IND vs NZ 2nd Test : अश्विन-सिराज के आगे एजाज का परफेक्ट-10 फेल, भारत को 332 रन की बढ़त

वहीं, इस दौरान कवि व शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैया राना सहित विभिन्न दलों के कई नेता सपा में शालिए हुए। सपा में शामिल होने वालों में गोंडा से बसपा के लोकसभा प्रत्याशी रहे मसूद आलम खां, बसपा के लाल चंद्र गौतम व खुदी राम पासवान सहित कई नेता व कार्यकर्ता रहे।

अखिलेश यादव ने कहा कि तमाम दलों के लोग सपा में शामिल हो रहे हैं और बहुत से लोग शामिल होना चाहते है। कई छोटे दल भी हमसे जुड़ना चाहते हैं इसलिए हम 2022 में छोटे दलों के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे। वहीं, इस दौरान अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला।

उन्होंने कहा कि सरकार विरोध में उठने वाले आवाजों को दबाने का प्रयास कर रही है। इसके साथ ही विरोधियों पर झूठे मुकदमे लगा रही है। यह सरकार जब तक नहीं जाएगी तब तक लोकतंत्र नहीं बच सकता। उन्होंने कहा कि नया कृषि कानून किसानों के लिए डेथ वारंट है।

किसान आंदोलन में सपा ने लगातार सक्रिय भूमिका निभाई है। देश में किसी भी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर इतने मुकदमे नहीं दर्ज हुए जितने सपा नेताओं पर आंदोलन के दौरान लगे। हम किसानों के लिए एक्सप्रेस वे के किनारे जो मंडियां बना रहे थे वो इस सरकार ने बंद करवा दी।

पढ़ें :- यूपी विधानसभा चुनाव निकट देख मंदिर से दूरी बनाने वाले टेक रहे हैं मंदिरों में माथा : डॉ. दिनेश शर्मा 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...