1. हिन्दी समाचार
  2. डॉक्टरों की हड़ताल से बढ़ी मरीजों की मुश्किलें, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ममता इसे न बनाएं प्रतिष्ठा का मुद्दा

डॉक्टरों की हड़ताल से बढ़ी मरीजों की मुश्किलें, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ममता इसे न बनाएं प्रतिष्ठा का मुद्दा

Many State Doctors Drop In Support Of Doctors Of West Bengal

By शिव मौर्या 
Updated Date

कोलकता। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के हड़ताल के समर्थन में कई राज्यों के डॉक्टर आ गए हैं। दिल्ली समेत अन्य राज्यों में डॉक्टरों के हड़ताल की वजह से मरीजों की परेशानी बढ़नी शुरू हो गयी है। भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) ने अखिल भारतीय विरोध दिवस घोषित किया है। दिल्ली मेडिकल असोसिएशन के अलावा पटना और रायपुर एम्स के डॉक्टर भी हड़ताल को समर्थन दे रहे हैं। वाराणसी के बीएचयू में भी डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं।

पढ़ें :- Hyderabad Election: रुझानों में हुआ बड़ा उलटफेर, टीआरएस निकली आगे, भाजपा हुई पीछे

कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में दो जूनियर डॉक्टरों पर हमला होने के बाद पश्चिम बंगाल के जूनियर डॉक्टर मंगलवार से हड़ताल पर हैं। वहीं इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मैं पश्चिम बंगाल के सीएम से अपील करता हूं कि इसे प्रतिष्ठा का मुद्दा न बनाएं। उन्होंने डॉक्टरों को एक अल्टीमेटम दिया, जिसकी वजह से वे नाराज हो गए और हड़ताल पर चले गए। आज मैं ममता बनर्जी जी को लिखूंगा और उनसे इस मुद्दे पर बात करने की भी कोशिश करूंगा।

इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने डॉक्टरों की हड़ताल के मामले में कहा कि मैं सभी डॉक्टरों को यह सुनिश्चत कराना चाहता हूं कि सरकार उनकी सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्ध है। मैं उनसे अपील करता हूं कि केवल प्रतीकात्मक विरोध जताएं और अपनी ड्यूटी पर लौटें। पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टर के साथ मारपीट के बाद शुरू हुई हड़ताल अब कई राज्यों में शुरू हो गयी है। बंगाल के डॉक्टर्स के सपोर्ट में दिल्ली के साथ ही मुंबई, पंजाब, केरल, राजस्थान, बिहार, मध्य प्रदेश में भी डॉक्टरों ने काम करने से इनकार कर दिया है।

यहां के अस्पतालों में ओपीडी बंद होने से मरीजों का बुरा हाल है। वहीं दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने हड़ताल बुलाई है, जिसका असर AIIMS जैसे बड़े अस्पतालों में देखने को मिलेगा। इसके अलावा मुंबई में भी डॉक्टरों ने काम करने से इनकार कर दिया है। वहां के डॉक्टरों का कहना है कि वह साइलेंट तरीके से अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे। डॉक्टर की हड़ताल के बाद दिल्ली में AIIMS के बाहर लगी मरीजों की भीड़ लगनी शुरू हो गई है।

पढ़ें :- महराजगंज:रुई के गोदाम में लगी भीषण आग,लाखों रुपये का सामान जलकर हुआ राख

बता दें कि पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा चार घंटे में हड़ताल खत्म करने के अल्टीमेटम दिए जाने के बावजूद अपनी हड़ताल खत्म करने से इनकार कर दिया। डॉक्टरों ने मुख्यमंत्री पर धमकी देने का आरोप लगाया है, जिसके बाद ममता ने डॉक्टरों से मरीजों की देखभाल करने का निवेदन किया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...