उरी हमले में शहीद जवान की पत्नी बोली, ‘अब जाकर मेरा कलेजा ठंडा हुआ’

नई दिल्ली: भारतीय सेना द्वारा किये गए ऑपरेशन सर्जिकल स्ट्राइक की सूचना पर उरी आतंकी हमले में शहीद हुए गया के सैनिक सुनील की पत्नी किरण ने कहा कि अब जाकर मेरा कलेजा ठंडा हुआ है लेकिन यह कार्रवाई पहले होती तो दुश्मन को सीख पहले ही मिल गई होती। शहीद सुनील की बेटी आरती ने भी कहा कि दुश्मन को जवाब मिलेगा तो वह फिर हमारी ओर देखने की हिम्मत नहीं करेगा।




पाक अधिकृत कश्मीर में आतंकी शिविर पर भारत की ओर से की गई कार्रवाई पर बिहार के लोगों में उत्साह का माहौल है। लोगों ने केंद्र के इस कदम का स्वागत करते हुए कहा है कि अब समय आ गया है कि पाकिस्तान को उसके किेए की सजा दी जाए। राजधानी पटना सहित राज्य के विभिन्न इलाकों में जैसे ही हमले की सूचना पहुंची लोगों में इस बारे में और ज्यादा जानकारी की उत्सुकता देखी गई।

उधर, जम्मू एवं कश्मीर के उड़ी में बीते 18 सितंबर को सैन्य शिविर पर हुए आतंकवादी हमले में घायल एक अन्य जवान ने शुक्रवार को दम तोड़ दिया, जिसके बाद उड़ी हमले के शहीदों की संख्या 19 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि 35 वर्षीय जवान राज किशोर सिंह ने यहां आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में दम तोड़ दिया। वह बिहार में भोजपुर जिले के पिरापटी गांव के रहने वाले थे और तीन भाइयों में सबसे छोटे थे।

राजकिशोर के घर में उनकी पत्नी कंचन देवी तथा दो बच्चे, 12 साल की बेटी सुहानी कुमारी और 10 साल का बेटा हेमंत सिंह हैं। राजकिशोर की भतीजी ने बताया कि परिवार को इस बारे में जानकारी तड़के 3.30 बजे मिली। राजकिशोर के बड़े भाई अशोक सिंह भी सेना में हैं, जबकि सबसे बड़े भाई देनी माधव सिंह सिंह तीन साल पहले ही सेना से सेवानिवृत्त हुए। शहीद जवान के बेटे हेमंत सिंह ने कहा कि यदि मौका मिलता है तो वह भी सेना में जाएंगे और राष्ट्र की सेवा करेंगे।




Loading...