1. हिन्दी समाचार
  2. मैरी कॉम ने मैच के बाद नहीं मिलाया निखत जरीन से हाथ, कहा- इज्जत करना सीखो

मैरी कॉम ने मैच के बाद नहीं मिलाया निखत जरीन से हाथ, कहा- इज्जत करना सीखो

Mary Kom Did Not Shake Hands With Nikat Zarine After The Match Said Learn To Respect

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। छह बार की वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियन एमसी मैरी कॉम ने शनिवार को अपनी प्रतिद्वंद्वी बॉक्सर निकहत जरीन को हराकर ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स में अपनी जगह पक्की कर ली है। मैरी ने उनको चैलेंज करने वाली मुक्केबाज निखत जरीन को 9-1 से बड़े अंतर से हराया। मैच के बाद छह बार की वर्ल्ड चैंपियन मैरी काफी गुस्से में नजर आई। उन्होंने मैच खत्म होने के बाद निखत से हाथ तक नहीं मिलाया।  

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

दोनों के बीच आज हुए ट्रायल मैच के बाद मैरी कॉम ने युवा निकहत से हाथ मिलाने से इनकार कर दिया। जब मैरी कॉम से इस पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे उनसे हाथ मिलाने की जरूरत क्यों है? अगर वह दूसरों से सम्मान की अपेक्षा रखती है तो उसे दूसरों का सम्मान करना भी आना चाहिए।

ये दोनों ही बॉक्सल एक ही वैट कैटिगरी (51 किलोग्राम) में खेलती हैं। पिछले कुछ समय से दोनों के बीच तकरार हावी है क्योंकि निकहत ने कई बार इस चैंपियन बॉक्सर पर यह आरोप लगाए हैं कि उनके चलते बॉक्सिंग में उनकी अनदेखी की जाती है। निकहत ने इस ट्रायल्स से पहले भी आशंका जताई थी कि भारतीय बॉक्सिंग संघ (BFI) बिना ट्रायल्स के मैरी कॉम को ओलिंपिक क्वॉलिफायर में भेजना चाहता है। इसके बाद BFI ने साफ किया कि ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स के लिए चयन से पहले दोनों बॉक्सरों को ट्रायल्स में उतरना होगा।

शनिवार को हुए इस मुकाबले में बंटे हुए नतीजे में मैरी कॉम की जीत हुई। इस मुकाबले में बहुत कम मुक्के चले और मैरी कॉम ने 9-1 से जीत हासिल कर टीम में जगह बनाई। मैच के बाद शिष्टाचार के तहत दोनों बॉक्सर एक-दूसरे से हाथ मिलाते हैं। मैच रेफरी दोनों को हाथ मिलवाते हैं लेकिन आज हुए मुकाबले में मैरी कॉम ने ऐसा नहीं किया और वह पीछे हट गईं।

जब मीडिया ने मैरी कॉम से उनके इस व्यवहार पर सवाल किए तो उन्होंने कहा, ‘मुझे उससे हाथ क्यों मिलाना चाहिए? अगर वह दूसरों से सम्मान की अपेक्षा रखती है तो उसे पहले दूसरो का सम्मान करना चाहिए। मैं ऐसे व्यवहार वाले लोगों को पसंद नहीं करती।’

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

मैरी कॉम निकहत को नसीहत देते हुए आगे कहा, ‘अगर कुछ साबित ही करना है तो रिंग के भीतर साबित करो, रिंग से बाहर नहीं।’  

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...