गोरखपुर जेल में कोरोना के खौफ से बन रहे मास्क, बाहर मुलाकाती बेखौफ

Gorakhpur Jail
गोरखपुर जेल में कोरोना के खौफ से बन रहे मास्क, बाहर मुलाकाती बेखौफ

गोरखपुर। पूरा देश कोरोना के खौफ से जूझ रहा है ऐसे में हर कोई सुरक्षा के इंतजाम करने में जुटा हुआ है। अपने साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी हर कोई निभा रहा है। साफ-सफाई के खास इंतजाम किए गए हैं। गोरखपुर जेल में भी कोरोना के खौफ के कारण कैदी मास्क तैयार कर रहे हैं. वहीं उनसे मिलने बाहर लाइन में लगे मुलाकातियों में कोरोना का खौफ नहीं दिख रहा है।

Masks Being Made Out Of Fear Of Corona In Gorakhpur Jail Out Of Fearlessness :

यूपी के गोरखपुर के मंडलीय कारागार में कैदी मास्क तैयार कर रहे हैं। इसकी वजह भी हर किसी को मालूम है। कोरोना के खौफ के कारण हर कोई अपनी सुरक्षा करना चाहता है। सभी जानते हैं कि लाइलाज वायरस कोरोना पूरी दुनिया में दहशत फैलाया हुआ है। ऐसे में जेल की सुरक्षा की जिम्मेदारी वरिष्ठ जेल अधीक्षक के जिम्मे है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक डा. रामधनी ने बताया कि साफ-सफाई के साथ कैदियों से मिलने आने वाले मुलाकातियों के हाथ साफ कराए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कैदियों से मास्क तैयार कराया जा रहा है। जिससे वे खुद की सुरक्षा कोरोना से कर सकें।

गोरखपुर जेल में कैदियों से मिलने वाले उनके परिजनों को पहले हैंडवाश कराया जा रहा है। उसके बाद अंदर ले जाने वाले सभी सामान को चेक करने के बाद उनको इस बात की हिदायत भी दी जा रही है कि वह अपने घरेलू सामान को ही ले जाएं। बाहर से लिए हुए सामान को ले जाना, उनके लिए खतरा हो सकता है। सुरक्षा के लिए ,करोना के संक्रमण से बचने के लिए जो भी आवश्यक उपाय हैं, उनके लिए बाहर बोर्ड लगा दिया गया है।

बोर्ड पढ़कर लोग खुद समझ सकें कि उन्हें क्या करना है? लेकिन उसके बावजूद भी सुरक्षा गार्ड लोगों को हैंडवाश करा रहे हैं और साथ ही ले जाने वाले सामान को चेक कर रहे हैं। हालांकि जेल के अंदर जेल प्रशासन जितना एहतियात बरत रहा है। वहीं कैदियों से बाहर से मिलने आने वाले मुलाकाती उतने ही लापरवाह दिखाई दिए। उनके चेहरे पर न तो मास्क दिखाई दिया और ना ही कोरोना वायरस को लेकर वह सचेत दिख रहे हैं। ऐसे में जेल के अंदर कैदियों में भी बाहर से आए व्यक्ति के माध्यम से कोरोना वायरस फैलने का खतरा मंडरा सकता है।

गोरखपुर। पूरा देश कोरोना के खौफ से जूझ रहा है ऐसे में हर कोई सुरक्षा के इंतजाम करने में जुटा हुआ है। अपने साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी हर कोई निभा रहा है। साफ-सफाई के खास इंतजाम किए गए हैं। गोरखपुर जेल में भी कोरोना के खौफ के कारण कैदी मास्क तैयार कर रहे हैं. वहीं उनसे मिलने बाहर लाइन में लगे मुलाकातियों में कोरोना का खौफ नहीं दिख रहा है। यूपी के गोरखपुर के मंडलीय कारागार में कैदी मास्क तैयार कर रहे हैं। इसकी वजह भी हर किसी को मालूम है। कोरोना के खौफ के कारण हर कोई अपनी सुरक्षा करना चाहता है। सभी जानते हैं कि लाइलाज वायरस कोरोना पूरी दुनिया में दहशत फैलाया हुआ है। ऐसे में जेल की सुरक्षा की जिम्मेदारी वरिष्ठ जेल अधीक्षक के जिम्मे है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक डा. रामधनी ने बताया कि साफ-सफाई के साथ कैदियों से मिलने आने वाले मुलाकातियों के हाथ साफ कराए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कैदियों से मास्क तैयार कराया जा रहा है। जिससे वे खुद की सुरक्षा कोरोना से कर सकें। गोरखपुर जेल में कैदियों से मिलने वाले उनके परिजनों को पहले हैंडवाश कराया जा रहा है। उसके बाद अंदर ले जाने वाले सभी सामान को चेक करने के बाद उनको इस बात की हिदायत भी दी जा रही है कि वह अपने घरेलू सामान को ही ले जाएं। बाहर से लिए हुए सामान को ले जाना, उनके लिए खतरा हो सकता है। सुरक्षा के लिए ,करोना के संक्रमण से बचने के लिए जो भी आवश्यक उपाय हैं, उनके लिए बाहर बोर्ड लगा दिया गया है। बोर्ड पढ़कर लोग खुद समझ सकें कि उन्हें क्या करना है? लेकिन उसके बावजूद भी सुरक्षा गार्ड लोगों को हैंडवाश करा रहे हैं और साथ ही ले जाने वाले सामान को चेक कर रहे हैं। हालांकि जेल के अंदर जेल प्रशासन जितना एहतियात बरत रहा है। वहीं कैदियों से बाहर से मिलने आने वाले मुलाकाती उतने ही लापरवाह दिखाई दिए। उनके चेहरे पर न तो मास्क दिखाई दिया और ना ही कोरोना वायरस को लेकर वह सचेत दिख रहे हैं। ऐसे में जेल के अंदर कैदियों में भी बाहर से आए व्यक्ति के माध्यम से कोरोना वायरस फैलने का खतरा मंडरा सकता है।