पुलिस को मिली बड़ी सफलता, मथुरा सर्राफा लूट कांड के 6 आरोपी गिरफ्तार

मथुरा: मथुरा के होली गेट स्थित कोयलावाली गली में 5 दिन पहले हुए सर्राफा कारोबारी की हत्या व लूटकांड में 6 आरोपी को पुलिस ने चौबियापाड़ा के हनुमान गली से गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से एक बदमाश को उसी घटना के दौरान गोली लगी थी, जिसका इस समय पुलिस जिला अस्पताल में इलाज कर रही है।




गत 15 मई को मथुरा के होली गेट स्थित मयंक चेन्स नाम की ज्वैलर्स की दुकान में ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर दो सराफा व्यवसायियों मेघ अग्रवाल और विकास अग्रवाल की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद बदमाश चौबियापाड़ा की ओर भागते हुए फरार हो गए थे। तब से सराफा व्यवसायी और पीड़ितों के घरवाले आंदोलित थे। शुक्रवार को प्रदेशव्यापी सराफा बंदी भी थी। मुख्यमंत्री योगी के प्रतिनिधि के रूप में ऊर्जा मंत्री और स्थानीय विधायक श्रीकांत शर्मा और डीजीपी सुलखान सिंह ने भी मथुरा का दौरा किया था और पीड़ितों के घरवालों से मुलाकात की थी।

पुलिस पर दबाव बढ़ रहा था। वह ताबड़तोड़ दबिशें दे रही थी। एसटीएफ समेत पुलिस की आठ टीमें लगाई गई थीं। शुक्रवार को पुख्ता सूत्र की निशानदेही पर दिन भर स्थानीय चौबियापाड़ा में दबिश चल रही थी। रात में मुठभेड़ की बात भी सामने आई थी, लेकिन बाद में इसे कोरी अफवाह करार दिया गया। रात भर की दबिश के बाद पुलिस ने चौबियापाड़ा की हनुमान गली से ही 5 बदमाशों राकेश उर्फ रंगा, यूसुफ, आदित्य, आयुष और कामेश को गिरफ्तार किया है। रंगा पर ही पुलिस को था शक।धीरज नामक एक बदमाश के पेट में गोली लगने की बात भी सामने आयी है। उसका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसकी सूचना जंगल में आग की तरह फैली तो जिला अस्पताल में भारी भीड़ उमड़ पड़ी। हिन्दुस्तान ने चौबियापाड़ा में बदमाशों के होने की आशंका भी जाहिर की थी।




पुख्ता सूत्र के मुताबिक पुलिस ने रात में एक अपराधी को जेल से लेकर उसकी निशानदेही पर इन्हें पकड़ा। उसे इनके ठिकाने पता थे। पुलिस प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका खुलासा कर सकती है। राकेश उर्फ रंगा की पत्नी का नाम सोना है। उसे तीन दिन पहले ही पुलिस ने हिरासत में लिया था। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर रंगा पर शक जाहिर किया गया था। पुलिस उसी दिशा में काम कर रही थी। तीर सही निशाने पर लगा और शनिवार की सुबह गिरफ्तारी हो गई।

Loading...