फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ का मथुरा में जमकर विरोध, डायरेक्टर को जुबान काटने की दी धमकी

नई दिल्ली। भगवान् श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में अक्षय कुमार की फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा का जमकर विरोध हो रहा है। मथुरा के संतो को फिल्म में नंदगांव और बरसाने की लड़के और लड़की की शादी दिखाने पर नाराजगी जाहिर की है। मथुरा के संतो में इस द्रश्य को लेकर इतनी नाराजगी हो गयी है कि वहां के संतों ने सोमवार को हुई महापंचायत में डायरेक्टर कि जुबान काटने वाले को 1 करोड़ का इनाम देने का ऐलान कर दिया है।




बरसाना गाँव में हुई उस पंचायत में संतो ने डायरेक्टर पर आरोप लगाया है कि फिल्म में सदियों से चली आ रही परम्पराओं का अपमान किया गया है। संतो ने फिल्म में जो शादी वाला द्र्श्य है उससे बरसाना के लोगो को आहात करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि ऐसा दिखाकर सदियों से चली आ रही परम्पराओं को तोड़ा जा रहा है वहां के मुताबिक़ उन दोनों गाँव के लड़का लड़की कभी आपस में शादी नहीं करते। इन दोनों गाँव के लिए मान्यता है कि एक गाँव राधा जी है वहीं दूसरा कान्हा जी का इसलिए लंबे समय से दोनों में शादी न करने का रिवाज है।




महापंचायत में 200 से ज्यादा लोग इकट्ठा हुए, जिसमें 6 गांव के प्रधान, संत और स्थानीय लोग भी शामिल थे। इस महापंचायत से तीन दिन पहले ही बरसाना पंचायत के 20 प्रधानों ने शादी के इस दृश्य के खिलाफ याचिका दायर की थी। विवाद को बढ़ता देख फिल्म के निर्देशक ने प्रेसवार्ता पर साफ कर दिया है कि फिल्म में बरसाना और नंदगांव के वैवाहिक संबंधो का सीन नहीं दिखाया जाएगा। यह फिल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन से प्रेरित है। पत्रकार वार्ता के दौरान एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर संदीप शांडिल्य, लाइन प्रोड्यूसर प्रमोद सिंह, प्रेम श्रोत्रिया आदि भी मौजूद थे।