मथुरा: स्ट्रेचर ना होने पर दारोगा ने गर्भवती को गोद में उठाकर पहुंचाया अस्पताल

mathura-police
मथुरा: स्ट्रेचर ना होने पर दारोगा ने गर्भवती को गोद में उठाकर पहुंचाया अस्पताल

Mathura Policeman Carries Pregnant In Arms And Helps Her Reach Hospital In Time For Delivery

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक दारोगा ने मानवता की मिशाल पेश की है। मथुरा में जीआरपी सिटी प्रभारी के पद पर तैनात दारोगा सोनू कुमार ने प्रसव पीड़ा से परेशान महिला की न केवल मदद की, बल्कि स्ट्रेचर न मिलने पर उसे गोदी उठाकर अस्पताल तक पहुंचाया। अब ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। लोग दारोगा की जाकर तारीफ़ें कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि हाथरस सिटी जीआरपी इंचार्ज सोनू कुमार कोर्ट के किसी काम से मथुरा जा रहे थे। इसी दौरान मथुरा जंक्शन पर उनकी नजर एक महिला पर पड़ी जो बुरी तरह दर्द से तड़प रही थी। एसओ हाथरस ने तुरंत 102, 108 नंबर पर एंबुलेंस के लिए फोन लगाया, पर किसी कारण एंबुलेंस नहीं मिल सकी। जिसके बाद उन्होंने एक ऑटो रिक्शे का इंतजाम किया और उससे महिला को अस्पताल पहुंचाया।

अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर्स ने कहा कि उन्हें महिला अस्पताल ले जाना होगा जो करीब 100 मीटर दूर था। अस्पताल में स्ट्रेचर उपलब्ध ना होने के चलते दारोगा सोनू कुमार ने महिला को गोद में उठाकर महिला अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में महिला ने एक पुत्र को जन्म दिया है और जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ बताए जा रहे हैं। पुलिस के इस रूप को जिसने भी देखा उसने सराहा।

वहीं दारोगा सोनू ने कहा, “यह मेरी ड्यूटी थी कि मैं जरूरतमंद की मदद करूं। मैंने 108 और 102 पर कॉल कर ऐंबुलेंस बुलानी चाही, मगर वहां कोई ऐंबुलेंस नहीं उपलब्ध थी। वे लोग मथुरा में नए थे और उन्हें वहां के बारे में कुछ नहीं पता था।”

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक दारोगा ने मानवता की मिशाल पेश की है। मथुरा में जीआरपी सिटी प्रभारी के पद पर तैनात दारोगा सोनू कुमार ने प्रसव पीड़ा से परेशान महिला की न केवल मदद की, बल्कि स्ट्रेचर न मिलने पर उसे गोदी उठाकर अस्पताल तक पहुंचाया। अब ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। लोग दारोगा की जाकर तारीफ़ें कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि हाथरस सिटी जीआरपी इंचार्ज सोनू…